हाफिज सईद PAK में नजरबंद, नवाज सरकार ने साधी चुप्पी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली/इस्लामाबाद.    पाकिस्तान सरकार ने सोमवार रात लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद को नजरबंद कर दिया। हालांकि, खुद हाफिज सईद ने एक वीडियो जारी कर इसे अरेस्ट बताया है। गिरफ्तारी के लिए उसने नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार बताया। पाकिस्तान के एआरवाय चैनल के मुताबिक, सईद को यूएस के नए प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प के डर से नजरबंद किया गया है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत की सरकार ने सईद की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। बताया जाता है कि सईद को लाहौर में किसी सीक्रेट लोकेशन पर रखा गया है। बता दें कि सईद मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है। क्या बोले पाकिस्तान के होम मिनिस्टर...
 
- बता दें कि सोमवार दोपहर ही पाकिस्तान के होम मिनिस्टर चौधरी निसार अली खान ने मीडिया से कहा था कि जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज सईद को अमेरिका ने आतंकी घोषित किया है। खान ने ये भी कहा कि पाकिस्तान सईद पर 2010 से ही नजर रख रहा था। 
- खान ने कहा, जमात साफ तौर पर बैन ऑर्गनाइजेशन है। यूएन सिक्युरिटी काउंसिल भी उसे बैन कर चुका है। सरकार को उसके खिलाफ एक्शन लेना ही होगा। चौधरी ने कहा कि सईद के खिलाफ लंबे वक्त से एक्शन पेंडिंग है। निसार के बयान के कुछ घंटे बाद ही सईद को अरेस्ट कर लिया गया।
- यूएस प्रेसिडेंट ट्रम्प के बारे में पूछे गए एक सवाल पर खान ने कहा- ट्रम्प के निशाने पर वो लोग हैं जो टेरेरिज्म के शिकार हुए। अमेरिका आतंकवादियों को निशाना कहां बना रहा है?
 
ट्रम्प के डर से पाकिस्तान ने लिया एक्शन?
- पाकिस्तान का मीडिया इसे ट्रम्प सरकार के डर से उठाया गया कदम बता रहे हैं। बता दें कि अमेरिका ने 7 मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में आने पर बैन लगा दिया है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान पर भी अमेरिका बैन लगा सकता है। 
- ट्रम्प साफ कर चुके हैं कि आतंकवाद फैलाने वाले देशों पर बैन लगाया जाएगा। सईद की नजरबंदी अमेरिका के डर से उठाया गया कदम माना जा रहा है।
- पाकिस्तान के सिक्युरिटी एक्सपर्ट आरिफ जमाल ने कहा- सईद खुद कह रहा है कि उसे मोदी और अमेरिका की वजह से अरेस्ट किया गया है।
 
गिरफ्तारी के बाद जारी किया वीडियो
- नजरबंद होने के बाद भी सईद ने एक वीडियो जारी कर अपने समर्थकों को मैसेज दिया। 
- इसमें उसने कहा, “इस्लाम के भाइयो! खास तौर पर मेरे कश्मीर के भाइयो! जहां-जहां तक मेरी आवाज पहुंचे। मैं ये कहना चाहता हूं कि इंटरनेशनल प्रेशर में पाकिस्तान की हुकूमत ने मेरी गिरफ्तारी का फैसला किया, जिसकी मुझे जानकारी दी गई। मैं ये समझता हूं कि ये सब कुछ इंटरनेशनल प्रेशर की वजह से ही हो रहा है। ”
- “पाकिस्तान में तो जमात-उद-दावा का कोई मसला नहीं है। हमने पाकिस्तान की हिफाजत के लिए कुर्बानियां दी हैं। हमने रिलीफ और तालीम (एजुकेशन) पर काम किया है। हमने बलूचिस्तान में अपने भाइयों का साथ दिया। हमने सिंध में भी अपने लोगों की मदद की। और खास तौर पर हम कश्मीर के लिए खड़े हुए। ”
- “कश्मीर के लिए मैंने साल भर का प्रोग्राम बनाया था। 5 फरवरी से इसपर काम करने वाला था। इसलिए मुझे इस बात का शक था कि ये बात इंडिया को बर्दाश्त नहीं होगी। और वो जरूर दबाव डालेगा। इस वक्त चूंकि ट्रम्प नया-नया अमेरिका का सदर (प्रेसिडेंट) बना है। और वो मोदी से बड़ी गहरी दोस्ती निभाना चाहता है। उनके आपसी मामले हैं। हालांकि, अमेरिका से हमारे मसले नहीं हैं। हमारा मसला इंडिया के साथ है। मसला कश्मीर का है। लेकिन मोदी इसके लिए जोर डाल रहे हैं। ”
 
कौन है हाफिज सईद?
- हाफिज सईद मुंबई के 26/11 के हमलों का मास्टरमाइंड है। इस हमले में 6 अमेरिकियों समेत 166 लोग मारे गए थे। भारत पाकिस्तान से उसे सौंपने की कई बार मांग कर चुका है। 
- सिर्फ मुंबई ही नहीं, भारत और अफगानिस्तान में हुए कई हमलों में साफ तौर पर हाफिज सईद का हाथ रहा लेकिन पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा। 
- अमेरिका ने इंटरनेशनल टेरेरिस्ट की जो लिस्ट जारी की थी उसमें भी सईद का नाम था। अमेरिका ने उस पर एक करोड़ डॉलर का इनाम भी रखा खा। उसके खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था। 
 
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें: नवाज के सांसद ने पूछा था- सईद कौन से अंडे देता है....
खबरें और भी हैं...