पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Home Ministry Says Pak Violated Ceasefire Daily In 2015 2016

पाकिस्तान ने 2015 और 2016 में रोज सीजफायर वॉयलेशन किया: सरकार

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली.   गृह मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान ने 2015 और 2016 में रोज सीजफायर वॉयलेशन किया। इन 2 सालों में पाक के सीजफायर वॉयलेशन में भारत के 23 जवान शहीद हुए। एक आरटीआई के जवाब में होम मिनिस्ट्री ने ये बातें कही हैं। 4 साल में कश्मीर 1,142 आतंकी घटनाएं हुईं...
 

- होम मिनिस्ट्री की रिपोर्ट के मुताबिक, 2012 से 2016 के दौरान जम्मू-कश्मीर में 1,142 आतंकी घटनाएं हुईं। इसमें 236 जवान शहीद हुए और 90 सिविलियन्स भी मारे गए।
- "2012-16 के दौरान ही सिक्युरिटी फोर्सेस ने 507 आतंकियों को मार गिराया।"
- गृह मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा, "पाकिस्तान ने 2016 में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर 449 और 2015 में 405 बार सीजफायर वॉयलेशन किया।"
 
जम्मू-कश्मीर में कितनी आतंकी घटनाएं?
- होम मिनिस्ट्री के मुताबिक, "2012 में जम्मू-कश्मीर में 220 और 2016 में 322 आतंकी घटनाएं हुईं। 2016 में 82 जवान शहीद हुए और 15 सिविलियन्स मारे गए।"
- "2015 में 208 आतंकी घटनाएं हुईं। 39 जवान शहीद हो गए और 17 सिविलियन्स मारे गए। इस साल एनकाउंटर में सिक्युरिटी फोर्सेस ने 108 आतंकियों को मार गिराया।"
- "2013 में 170 आतंकी हमले हुए, जिसमें 53 जवान शहीद हो गए और 15 सिविलियन्स की मौत हो गई। फोर्सेस ने 67 आतंकियों को ढेर कर दिया।"
- "2014 में आतंकी घटनाओं में 47 जवान शहीद हुए, 28 सिविलियन्स मारे गए। फोर्सेस के साथ एनकाउंटर में 110 आतंकी मारे गए।"
- "2012 में 220 आतंकी हमलों में 15 जवान शहीद हुए। एनकाउंटर में फोर्सेस ने 72 टेररिस्ट को मार गिराया।"
 
क्या बोले रिटायर्ड आर्मी अफसर?
- रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्शी के मुताबिक, "पाकिस्तान, भारत के खिलाफ दिखावटी जंग छेड़े हुए है। अगर वह शांति की बात करता है तो उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता। जम्मू-कश्मीर का एग्जाम्पल हमारे सामने है।"
- "इन दिनों एक नया ट्रेंड चल रहा है। जैसे ही आर्मी किसी एरिया में आतंकियों को घेरते हैं। सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी जाती है और लोग, जवानों पर पथराव करने पहुंच जाते हैं।"
 
क्या बोलीं थी महबूबा?
- शनिवार को महबूबा मुफ्ती ने कहा, "अगर कश्मीर के हालात ज्यादा बिगड़ते हैं, तो जम्मू और लद्दाख में भी इसका असर होगा। मेरे पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद और अटल बिहारी वाजपेयी ने कश्मीर में शांति प्रक्रिया की शुरुआत की। अब मेरे पिता इस दुनिया में नहीं रहे और वाजपेयी सरकार नहीं है। यूपीए सरकार सोचती थी कि कश्मीर में हालात सुधर रहे हैं, लेकिन अब और भी बदतर हो गए हैं। किसी को भी कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती।"
- "हमें कोई दलदल से निकाल सकता है तो वो मोदी हैं। वो फैसला करेंगे तो पूरा मुल्क सपोर्ट करेगा।"
- "पहले वाले पीएम भी पाक जाना चाहते थे, पर जुर्रत नहीं की। मोदी लाहौर गए, ये उनकी ताकत की निशानी है।"
 
घाटी में बिगड़े हालात
- कश्मीर में 9 अप्रैल को श्रीनगर बाई पोल के दौरान भड़की हिंसा में 8 लोगों की मौत हो गई। इसी दौरान एक पत्थरबाज को सीआरपीएफ की जीप के बोनट से बांधने का मामला सामने आया। फोर्स ने कहा कि पत्थरबाजी से बचने के लिए ऐसा किया गया।
- वहीं, पुलवामा के एक स्कूल में आर्मी की कार्रवाई के बाद स्टूडेंट्स भी फोर्सेस पर पत्थरबाजी करने के लिए सामने आए।
- 1 मई को पुंछ सेक्टर में पाक ने सीजफायर वॉयलेशन किया। इसमें भारत के 2 जवान शहीद हो गए। बाद में पाक की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने LoC पार कर शहीदों के सिर काट लिए।
- 2 मई को संदिग्ध आतंकियों ने शोपियां में एक पुलिस पोस्ट पर हमला किया था। वे 4 इंसास और एक एके-47 राइफल लूटकर ले गए थे।
- इसके बाद 3 मई को पुलवामा में बैंक डकैती हुई। आतंकियों ने बैंक में हमला कर 4 लाख रुपए लूट लिए। यहां के एसपी मोहम्मद भट की मानें तो शुरुआती जांच बताती है कि इन डकैतियों में लश्कर-ए-तैयबा का हाथ था।
- 4 मई को छिपे आतंकियों की खोज के लिए साउथ कश्मीर में 4 हजार जवानों ने साउथ कश्मीर खासकर शोपियां और पुलवामा में सर्च ऑपरेशन चलाया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें