गांधीजी ने इसलिए धमकी देकर पाकिस्तान को दिलाए थे 55 करोड़ रुपए

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. देश के बंटवारे के वक्त गांधीजी ने धमकी देकर पाकिस्तान को55 करोड़ रुपए दिलाए थे। कहा जाता है कि ये रुपए मांगे तो पाकिस्तान ने टेंट खरीदने के लिए थे, लेकिन उसने इनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ किया और हथियार खरीदे। सरदार पटेल ने इसी आशंका के चलते जब पैसे देने से इनकार कर दिया तो महात्मा गांधी ने आमरण अनशन की धमकी दे डाली थी। 70th इंडिपेंडेंस डे के मौके पर dainikbhaskar.com आपको बता रहा है भारत-PAK के विभाजन की कहानी...
- आजाद भारत के खजाने में कुल 155 करोड़ रुपए थे। जिसे दोनों देशों के बीच बराबर बांटा गया था।
- भारत ने पाकिस्तान को 20 करोड़ रुपए पहले ही दे दिए थे। बाकी 55 करोड़ देना बाकी था।
- इसी बीच, कबाइलियों के वेश में पाक सेना ने कश्मीर पर हमला बोल दिया। तब सरदार पटेल ने सख्ती दिखाई और कश्मीर में फौज भिजवाई।
- इसके बाद भारतीय फौज ने कश्मीर पहुंचकर पाकिस्तान की सेना को खदेड़ दिया था।
आगे की स्लाइड्स में पढ़े, गांधीजी क्यों जाना चाहते थे पाकिस्तान...
खबरें और भी हैं...