खीर भवानी मंदिर में पूजा कर महबूबा ने कहा- पंडितों के बिना है अधूरा कश्मीर

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने रविवार को गांदरबल जिले में तुलमुला के क्षीर भवानी मंदिर में पूजा की। महबूबा के इस कदम को पंडितों के बीच पीडीपी की पहुंच को बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है। इस मौके पर उन्होंने कहा- "पंडितों के बिना कश्मीर अधूरा है। घाटी में इनकी वापसी के लिए राज्य सरकार हर संभव कोशिश करेगी। क्या कहा सीएम ने...
- सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा- "राज्य सरकार कश्मीरी पंडितों की घाटी में वापसी कराने को लेकर प्रयास कर रही है।"
- "उन्हें दो ऑप्शन दिये जा रहे हैं। या तो वे अपनी जगह लौट आएं या उनके लिए बनाई जा रही कालोनी में रहें।"
- "हम उन्हें रहने के लिए जगह मुहैया करा रहे हैं।"
- " उन्होंने कहा कि यह मंदिर हिंदू-मुस्लिम सामाजिक एकता का सिम्बल है।"
- इस मौके पर उन्हाेंने देश के कई इलाकों से आए कश्मीरी पंडितों से मुलाकात कर उन्हें सम्मानित किया।
- बता दें कि हिंदुओं के इस मंदिर में हर साल इन्हीं दिनों मेला लगता हैं, जिसमें लाखों लोग पहुंचते हैं।
भक्तों पर हुआ था पथराव
- एक दिन पहले क्षीर भवानी मंदिर जा रहे भक्तों की बसोंं पर कुछ शरारती लोगों ने पथराव किया था।
- इसमें दो महिलाएं घायल हो गई थीं। महबूबा ने इस घटना पर अफसोस भी जताया।
कहां है ये मंदिर
- यह मंदिर श्रीनगर से करीब 25 किमी दूर गांदरबल जिले में है।
- माना जाता है कि यहां भवानी मां को खीर चढ़ाई जाती है। इसलिए इनका नाम क्षीर भवानी पड़ा।
- यहां माथा टेकने के लिए हर धर्म के लोग आते हैं।
देखें महबूबा के पूजा करते हुई फोटोज...
खबरें और भी हैं...