पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोदी के डिनर में आज शामिल होंगे नीतीश, सोनिया-राहुल से भी मुलाकात करेंगे

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली.   नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में हैदराबाद हाउस में डिनर रखा। मोदी ने उन्हें मोमेंटो भी भेंट किया। इस दौरान प्रेसिडेंट इलेक्ट रामनाथ कोविंद, उनकी पत्नी सविता कोविंद, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी मौजूद थे। इस डिनर में मोदी कैबिनेट के मंत्री और एनडीए के सहयोगी दलों के नेता भी शामिल हुए। बता दें कि प्रणब का टेन्योर 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। 25 जुलाई को पद संभालेंगे कोविंद...
 
- नए राष्ट्रपति कोविंद 25 जुलाई को पद संभालेंगे। उसी दिन प्रणब का फेयरवेल संसद के सेंट्रल हॉल में होगा। स्पीकर सुमित्रा महाजन स्पीच देंगी। वे प्रणब को एक स्मृति चिह्न और सभी सांसदों के सिग्नेचर वाली बुक देंगी। इसके बाद हाई-टी होगी। 
- रिटायरमेंट के बाद प्रणब उसी बंगले में शिफ्ट होंगे, जहां पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम रहते थे। बताया जाता है कि प्रणब रिटायरमेंट के बाद अपनी ऑटोबायोग्राफी का तीसरा पार्ट लिखना चाहते हैं।
 
डिनर से पहले राहुल से मिले नीतीश
- बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के इस्तीफे के मुद्दे पर जेडीयू और आरजेडी आमने-सामने हैं। महागठबंधन में जारी तनातनी के बीच सीएम नीतीश कुमार ने शनिवार को राहुल गांधी से मुलाकात की। गठबंधन में शामिल कांग्रेस इस टकराव को दूर करने की कोशिश कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच गठबंधन और विपक्ष की एकता को मजबूत करने पर चर्चा हुई। कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी भी लालू और नीतीश से फोन पर बात कर चुकी हैं। बता दें कि लालू यादव के परिवार पर करप्शन और बेनामी संपत्ति रखने के आरोप लगे हैं। रेलवे टेंडर स्कैम में सीबीआई ने लालू-राबड़ी और तेजस्वी पर केस दर्ज किया है।
 
नीतीश ने किया था कोविंद का सपोर्ट 
- राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के खिलाफ जाकर नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइडेट (जेडीयू) ने एनडीए कैंडिडेट रामनाथ कोविंद को सपोर्ट किया था। इस चुनाव में बिहार में करीबी मुकाबला रहा। कोविंद को 22,490 वोट मिले, वहीं, यूपीए कैंडिडेट मीरा कुमार को 18,867 वोट मिले थे। बता दें कि मीरा कुमार बिहार से सांसद रही हैं, कोविंद यहां गवर्नर थे। 
 
राष्ट्रपति चुनाव में किसे कितने वोट?
कुल वोटिंग हुई थी: 10,69,358
जीत के लिए जरूरी थे: 5,34,680 
मीरा को मिले: 3,67,314
कोविंद को मिले: 7,02,044 यानी कुल वोटों के 65.65% और मीरा से दोगुने।
 
खबरें और भी हैं...