पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ओडिशा के एक गवर्नमेंट अधिकारी ने किया ट्रांसजेंडर का खुलासा, रितिकांता से बने ऐश्वर्या

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भुवनेश्वर. ओडिशा के 32 साल के एक सरकारी अफसर रतिकांता प्रधान ने अपनी ट्रांसजेंडर आइडेंटिटी का खुलासा किया है। रतिकांता अब ऐश्वर्या रितुपर्णा प्रधान के नाम से जाने जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट से ट्रांसजेंडरों को मान्यता मिलने के बाद रतिकांता ने यह फैसला लिया है।
कौन हैं रतिकांता?
- रतिकांता पारादीप पोर्ट टाउनशिप में कमर्शियल टैक्स अफसर हैं। वे कंधमाल जिले के उदयगिरि ब्लॉक के कनाबागिरी गांव के रहने वाले हैं।
- 2010 में उन्होंने मेल (पुरुष) कैंडिडेट के रूप में ओडिशा फाइनेंशियल सर्विस का एग्जाम पास किया था। वे बैंक क्लर्क की नौकरी भी कर चुके हैं।
- रतिकांता ने एक न्यूजपेपर में इंटर्नशिप भी की थी।
- रतिकांता ने मास कम्युनिकेशन में ग्रैजुएशन और पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में पोस्ट ग्रैजुएशन किया है।
क्यों लिया ये फैसला ?
- सुप्रीम कोर्ट से ट्रांसजेंडरों को थर्ड जेंडर के रूप में मान्यता मिलने के बाद रतिकांता ने यह फैसला लिया।
- रतिकांता के मुताबिक, 9 अप्रैल 2014 को सीटीओ की सर्विस ज्वाइन करने के वक्त मैं लड़कों के कपड़े पहनता था।
- बाद में सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर आने पर साड़ी पहननी शुरू कर दी थी।
- पहले मेरे परिवार, दोस्तों और रिश्तेदारों ने मुझे स्वीकार नहीं किया। इनमें मेरे पिता भी शामिल थे।
- पर अब सब मेरे नए अवतार का स्वागत कर रहे हैं।
- रतिकांता के मुताबिक, इससे संबंधित मैंने सभी डॉक्यूमेंट्स सबमिट कर दिए हैं।
क्या था कोर्ट का फैसला?
- 15 अप्रैल 2014 को सुप्रीम कोर्ट ने थर्ड जेंडर को मान्यता देते हुए दूसरे जेंडर (मेल-फीमेल) की तरह राइट्स दिए।
- संविधान के आर्टिकल 14, 16 और 21 का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ट्रांसजेंडर देश के सिटिजन हैं।
- एजुकेशन, इम्प्लॉइमेंट और सोशल एक्सेप्टिबिलटी पर उनका समान हक है।
आगे की स्लाइड में देखें संबंधित फोटो...
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें