पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भोपाल ट्रेन ब्लास्ट: आतंकियों ने लगाया था पाइप बम, सीरिया भेजी थी तस्वीर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल.    मंगलवार को भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुए ब्लास्ट में नया खुलासा हुआ है। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने कहा, "आतंकियों ने ट्रेन में पाइप बम रखा था। उसकी तस्वीर सीरिया में ISIS सरगनाओं को भी भेजी थी।" ये ब्लास्ट देश में आईएसआईएस का पहला हमला है। बता दें कि मंगलवार को पैसेंजर ट्रेन में शाजापुर के पास हुए ब्लास्ट में 9 लोग जख्मी हो गए थे। पिपरिया पुलिस ने एक बस को टोल नाके पर रोक कर तीन संदिग्धों को अरेस्ट कर लिया। संदिग्धों को अपने काम को अंजाम देकर लखनऊ लौटना था...
 
- शिवराज ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, "संदिग्ध लखनऊ और कन्नौज के थे। उन्हें अपने काम को अंजाम देकर लखनऊ ही लौटना था।"
- "उनके पास जो एक्सप्लोसिव्स मिले हैं, उन पर लिखा है- 'आईएसआईएस- हम भारत में हैं'।"
- "उन्होंने ट्रेन में बम फिट करने की तस्वीर सीरिया में बैठे अपने सरगनाओं को भेजी। इससे साबित होता है कि वे आईएसआईएस से जुड़े हुए थे।"
 
'इंटरनेट से सीखा बम बनाना'
- शिवराज से ये भी बताया, "आतंकियों ने बम बनाने का पूरा मेकैनिज्म इंटरनेट से सीखा। इसके बाद उन्होंने ब्लास्ट करने की ट्रेनिंग ली।"
- "पाइप बम को अपर बर्थ में रखा गया था। उन्होंने 2 घंटे में बम फटने के लिए बाकायदा टाइमर भी लगाया था। चूंकि बम अपर बर्थ पर था, इसके चलते नुकसान कम हुआ।"
- "हमारी एटीएस सेंट्रल एजेंसियों से लगातार कॉन्टैक्ट में थी। इसके चलते मास्टरमाइंड अतीक मुजफ्फर, मोहम्मद दानिश और सैयद मीर हुसैन को पकड़ लिया गया है।"
- एमपी के आईजी लॉ एंड ऑर्डर मकरंद देऊस्कर ने पुष्टि की थी कि भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुआ ब्लास्ट आतंकी हमला ही था। ये एक आईईडी ब्लास्ट था। आईईडी ब्लास्ट हमेशा आतंकी हमला ही होता है।
 
मंगलवार दिन भर कैसे चला घटनाक्रम?
 
1# सुबह एमपी में ट्रेन में ब्लास्ट
- भोपाल से 70 किमी दूर कालापीपल में जबड़ी स्टेशन के पास मंगलवार सुबह 9 बजकर 38 मिनट पर भोपाल-उज्जैन पैसेंजर (59320) ट्रेन के जनरल कोच में ब्लास्ट। IED ब्लास्ट के बाद कोच में छेद हो गया। एमपी पुलिस ने पुष्टि की कि यह एक आतंकी हमला था। 
 
2# दोपहर 1.30 बजे पिपरिया से संदिग्धों की गिरफ्तारी
- दोपहर 1.30 बजे इंटेलिजेंस इनपुट के बेस पर एमपी के पिपरिया के चेतक टोल नाके से 4 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। ये भोपाल के नादरा बस स्टैंड से एक बस में सवार हुए थे। बस रोककर इन संदिग्धों को पुलिस ने अरेस्ट किया और एटीएस के हवाले किया। दोपहर 2.30 बजे तक इनसे भोपाल में पूछताछ चली।
- माना जा रहा है कि इन्हीं संदिग्धों में कानपुर और लखनऊ में संदिग्धों की मौजूदगी के बारे में बताया।
 
3# दोपहर 2.30 बजे कानपुर से अरेस्ट सस्पेक्ट ने लखनऊ के बारे में इन्फॉर्मेशन दी
- कानपुर के चकेरी थाना के तिवारीपुर ताड़बगिया मोहल्ले से लखनऊ एसटीएफ की टीम ने एक संदिग्ध को अरेस्ट किया। उसका नाम फैजान बताया जा रहा है। 
- सूत्रों के मुताबिक, फैजान ने ही लखनऊ के एक घर में छिपे आतंकी के बारे में जानकारी दी। बाद में कानपुर से इमरान और इटावा से भी फकरे आलम नामक संदिग्ध को यूपी एटीएस ने गिरफ्तार किया।
 
4# 3.30 बजे लखनऊ में एनकाउंटर शुरू हुआ
- ठाकुरगंज में यूपी एटीएस ने एक मकान पर ऑपरेशन शुरू किया। घर के अंदर एक संदिग्ध मौजूद था। उससे बातचीत की कोशिश हुई। लेकिन उसने सरेंडर करने से इनकार कर दिया। कमांडोज ने ऑपरेशन जारी रखा।
 
5# रात करीब 8.30 बजे
- गैस कटर के जरिए पुलिस और एटीएस ने दीवार में छेदकर अंदर का जायजा लिया। आतंकी बेहोश पड़ा था। लेकिन उसके हाथ में हथियार था।
 
6# रात 9.30 बजे
- कमांडोज डॉक्टरों को साथ लेकर घर के अंदर दाखिल हुए। पुलिस ने संदिग्ध के मारे जाने की पुष्टि की। लेकिन इसके तुरंत बाद पुलिस ने कहा कि घर के अंदर एक और संदिग्ध है।
इसके बाद ऑपरेशन जारी रखने की बात कही गई।
 
7# रात 2.56 बजे 
- लखनऊ के ठाकुरगंज में छिपे संदिग्ध सैफुल्लाह को मार गिराया गया। यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने इसकी पुष्टि की।
 
 
- ट्रेन में ब्लास्ट के बाद पिपरिया के पास सीसीटीवी में दिखे संदिग्ध और दूसरे संदिग्ध को एटीएस ने लखनऊ में घेरा... पूरे घटनाक्रम का वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें
 
ये भी पढ़ें
 
खबरें और भी हैं...