पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Narendra Modi Maintains Lead In Final Stretch Of TIME Person Of The Year Poll

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

TIME पर्सन ऑफ द ईयर का एलान आज, मोदी चुने गए तो गांधीजी के बाद होंगे यह खिताब पाने वाले दूसरे भारतीय

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. यूएस के प्रेसिडेंट इलेक्ट डोनाल्ड ट्रम्प TIME मैगजीन के पर्सन ऑफ द ईयर बन गए हैं। मैगजीन ने अपने अगले एडिशन के कवर पेज में ट्रम्प को 'प्रेसिडेंट ऑफ द डिवाइडेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका' करार दिया है। सेकेंड रनरअप हिलेरी क्लिंटन बनी हैं। हिलेरी ही यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में ट्रम्प के सामने थीं। हालांकि, वे चुनाव हार चुकी हैं। आखिरी दावेदारों में नरेंद्र मोदी भी शामिल थे। वे ऑनलाइन रीडर्स पोल जीत चुके थे। उसमें उनके ट्रम्प से 11% ज्यादा वोट थे। अगर मोदी जीत जाते तो यह खिताब पाने वाले दूसरे भारतीय बन जाते। इससे पहले 1930 में गांधीजी को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर चुना गया था। टाइम ने ट्रम्प को क्यों चुना...
- ट्रम्प को चुने जाने की वजह के बारे में टाइम ने लिखा कि एक एंटी-इस्टैब्लिशमेंट शख्स और पॉपुलिस्ट कैंडिडेट के तौर पर कैम्पेन चलाने के बाद 70 साल के ट्रम्प यूएस के 45वें प्रेसिडेंट के तौर पर चुने गए हैं। उन्होंने चुनाव जीतकर अपने अभियान को शानदार तरीके से पूरा किया।
- वहीं, ट्रम्प ने कहा कि यह बड़े सम्मान की बात है, क्योंकि वे टाइम को पढ़ते हुए ही बड़े हुए हैं।
ट्रम्प ने क्या पहले ही लीक कर दिया था रिजल्ट?
- ट्रम्प ने टाइम पर्सन ऑफ द ईयर के रिजल्ट का एलान होने से कुछ देर पहले ही ट्वीट कर दिया था, ''7.30 बजे @TODAYshow में मेरा इंटरव्यू आएगा।"
- इससे सवाल उठे कि ट्रम्प जानते थे कि वे चुने जाएंगे, इसलिए उनका इंटरव्यू फिक्स हुआ और इन्फॉर्मेशन लीक की।
- हालांकि, बाद में उन्होंने इस बारे में सवाल पूछे जाने पर कहा कि यह मॉडर्न-डे कम्युनिकेशन है। इसमें कुछ गलत नहीं है।
प्रेसिडेंट ऑफ द डिवाइडेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका
- ट्रम्प के बारे में एलान के बाद ही टाइम मैगजीन ने अपने अगले एडिशन का कवर पेज भी जारी किया। इसमें ट्रम्प को 'प्रेसिडेंट ऑफ द डिवाइडेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका' कहा गया।
- डिवाइडेड स्टेट्स के ये मायने हैं कि यूएस इलेक्शन के नतीजों में यह देखा गया कि यूएस के पूर्वी और पश्चिमी राज्यों में हिलेरी को जीत मिली, जबकि कंजरवेटिव अमेरिकियों के बहुमत वाले सेंट्रल अमेरिकी राज्यों में ट्रम्प जीते। माना गया कि ट्रम्प ऑर्थोडॉक्स की और हिलेरी मॉडर्न अमेरिकियों की पसंद हैं।
मोदी को मिले थे 18% वोट
- इससे पहले मोदी रीडर्स पोल में बाजी मार चुके थे। उन्हें सबसे ज्यादा 18% वोट मिले थे।
- हालांकि, मोदी 'टुडे शो' पोल में पिछड़ रहे थे।
- बता दें कि टाइम मैगजीन की ओर से हर साल खबरों पर अच्छा या बुरा असर डालने वालों में से किसी शख्स या ग्रुप को यह अवॉर्ड दिया जाता है।
फाइनल लिस्ट में थे ये 11 नाम
- फाइनल लिस्ट में 11 नाम थे। इनमें रियो ओलिंपिक में डेब्यू करनी वाली जिम्नास्ट सिमोन बिल्स, हिलेरी क्लिंटन, क्रिस्पर साइंटिस्ट्स शामिल थे।
- इनमें तुर्की के प्रेसिडेंट तैयप ओर्देगॉन, ब्रिटेन को यूरोप से अलग करने वाले नाइजेल फैराज, द फ्लिंट व्हिसिलब्लोअर, बियोंसे नोल्स, नरेंद्र मोदी, व्लादिमीर पुतिन, डोनाल्ड ट्रम्प के साथ ही मार्क जुकरबर्ग का भी नाम था।
रीडर्स पोल में किसे कितने वोट मिले थे
नरेंद्र मोदी : 18%
बराक ओबामा : 7%
जुलियन असांजे : 7%
डोनाल्ड ट्रम्प : 7%
हिलेरी क्लिंटन : 4%
मार्क जुकरबर्ग : 2%
मोदी के लिए TIME ने क्या कहा था?
- टाइम मैगजीन ने 2016 में दावेदारों के उस वक्त का एनालिसिस किया था, जब-जब वो सबसे ज्यादा चर्चा में रहे।
- मोदी ने 16 अक्टूबर को गोवा में हुए ब्रिक्स देशों के समिट के दौरान पाकिस्तान को आतंकवाद का ‘निर्यातक’ देश कहा था। इस दौरान मोदी सबसे ज्यादा चर्चा में रहे।
- मोदी के नोटबंदी के फैसले की भी दुनियाभर में चर्चा रही। मीडिया में इसकी तारीफ भी हो चुकी है।
- टाइम मैगजीन ने मोदी के बारे में कहा- "भारत के पीएम देश की इकोनॉमी को ऐसी स्थिति में ले गए हैं जो 'उभरते बाजार के तौर पर दुनिया की सबसे पॉजिटिव स्टोरी' है।
4th बार दावेदार बने थे मोदी
- मोदी लगातार चौथी बार इस खिताब के दावेदारों में शामिल हुए थे।
- मोदी टाइम पर्सन ऑफ द ईयर के लिए हुई रीडर्स की ऑनलाइन वोटिंग में दूसरी बार जीते थे।
- 2014 में उन्हें कुल 50 लाख में से 16% से ज्यादा वोट मिले थे। लेकिन तब इबोला फाइटर्स को यह खिताब दिया गया था।
- 2015 में जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर चुना गया था।
अासान नहीं है विनर का सिलेक्शन
- ओपनटॉपिक और आईबीएम की वॉटसन कंपनियां इस सर्वे में टाइम की पार्टनर हैं। ये एनालिसिस में मदद करती हैं।
- इस बार ओपनटॉपिक और वॉटसन ने करीब 35 लाख ऑनलाइन सोर्स के जरिए 6 करोड़ 20 लाख डॉक्युमेंट्स का एनालिसिस किया।
- यह जानकारी टाइम के एडिटर्स को विनर्स का नाम फाइनल करने में मदद करती है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, चार्ल्स लिंडबर्ग पहले और सबसे यंग विनर...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser