REALITY CHECK : सावधान, ये खबर पढ़ने के बाद मिठाई खाना छोड़ देंगे आप, जानिए चांदी के वर्क के पीछे की सच्चाई

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
यूटिलिटी डेस्क। देश में दिवाली और होली के अलावा बाकी दिनों में भी चांदी के वर्क की मिठाइयां खूब खाई जाती हैं। यहां तक कि पान में भी यदि चांदी का वर्क लगा हो तो उसकी कीमत बढ़ जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चांदी के वर्क को बनाने में जानवरों की आंत का इस्तेमाल होता है। हालांकि, फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने चांदी के ऐसे वर्क पर रोक लगा रखी है। इसके बावजूद पूरे देश में ये धड़ल्ले से बिक रहा है। इतना ही नहीं, चांदी के असली वर्क के नाम पर बाजार में एल्युमिनियम के वर्क भी बिक रहे हैं। इससे कैंसर, फेफड़े और दिमाग की बीमारियां हो सकती हैं। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के एक्स मेंबर और फूड एक्सपर्ट बिजॉन मिश्रा कहते हैं कि चांदी के वर्क बेचने वालों को ये साफ-साफ बताना चाहिए ये वेज है या नॉनवेज। इसके पैकेट पर ग्रीन और रेड मार्क लगाना चाहिए।
आगे की स्लाइड में जानें कैसे बनता है चांदी का वर्क?
खबरें और भी हैं...