पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • \"दबाव में पुलिस, भाजपा को सौंप दे थाने\'

\"दबाव में पुलिस, भाजपा को सौंप दे थाने\'

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्टूडेंट्सका चालान काटने का विरोध करने पर पार्षद को डीसीपी दफ्तर लाने से गुस्साए भाजपा नेताओं की तरफ से ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर बलदेव राज के साथ हाथापाई करने की राजनीतिक दलों के नेताओं ने सत्ता का दुरुपयोग बताया है।

उनका कहना है कि कानून को हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं होनी चाहिए। कांग्रेसियों ने तो यहां तक कह दिया कि पुलिस दबाव में गई है, थानों और नाकों की जिम्मेदारी भाजपा नेताओं को सौंप देनी चाहिए। इतना ही नहीं पुलिस विभाग के कर्मी भी इस मामले से खासे आहत हैं। कई ट्रैफिक कर्मचारियों ने तो अपनी चालान बुक दफ्तर में जमा करवा दी और पूरा दिन किसी भी वाहन को रोककर दस्तावेज चेक नहीं किए। चौराहों से नाके हटा लिए गए। हालांकि पुलिस अधिकारी यही कह रहे हैं कि गुरुपर्व के कारण चालान नहीं किए जा रहे। गौरतलब है कि एक हफ्ते में दौरान यह दूसरा मामला है। जब चालान काटने को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया और हाथापाई कर कर्मियों की वर्दी पर हाथ डाला।

मेयरऔर अन्य पर हो पर्चा

नाॅर्थहलका कांग्रेस के इंचार्ज करमजीत सिंह रिंटू बोले कि भाजपा के सियासी हस्तक्षेप के आगे पुलिस ने घुटने टेक दिए हैं। पुलिस अधिकारी से हाथापाई करने के आरोप में मेयर बख्शी राम अरोड़ा सहित वहां मौजूद सभी भाजपाइयों पर पर्चा दर्ज होना चाहिए। डीसीपी विक्रमपाल सिंह भट्टी ने एकतरफा कार्रवाई की है, इससे पुलिस का मनोबल गिरेगा। चंडीगढ़ में ट्रैफिक रूल्स तोड़ने पर नेता से लेकर अधिकारियों के भी चालान काटे जाते हैं।

वर्दीपर हाथ डालना गलत

जिलाकांग्रेस देहाती के प्रधान गुरजीत सिंह औजला ने कहा कि सब इंस्पेक्टर की शिकायत उच्चाधिकारियों से की जा सकती थी, पुलिस कर्मी की वर्दी पर हाथ डालना गुंडागर्दी है। पुलिस ने वीरवार को शहर से नाके उठा दिए हैं, इतना ही दबाव है तो थानों का काम भाजपाइयों को सौंप देना चाहिए।

नाकेहटाना सही नहीं

अकालीदल शहरी के जिला प्रधान उपकार सिंह संधू ने कहा कि ट्रैफिक पुलिस के खिलाफ शिकायतें काफी हैं, लेकिन किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए। पार्षद की रिस्पेक्ट होनी चाहिए, वहीं अफसरों को भी रिस्पेक्ट देनी बनती है। नाके हटाए जाना गलत है।

आमआदमी का क्या होगा

आमआदमी पाटी के नेता डॉ. दलजीत सिंह बोले, जब पुलिस ही सुरक्षित नहीं तो आम आदमी का क्या होगा? अनुशास