पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • ईपीएफ पेंशनर्स को अब डिजिटल सर्टिफिकेट देना पड़ेगा

ईपीएफ पेंशनर्स को अब डिजिटल सर्टिफिकेट देना पड़ेगा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंप्लाइजप्रोवीडेंट फंड आर्गेनाइजेशन (ईपीएफओ) पेंशन के लिए अब कागज के लाइफ सर्टिफिकेट को स्वीकार नहीं करेगा। पेंशन लेने वाले पेंशनर्स के लिए अब केवल डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट ही मान्य होगा।

इसके लिए ईपीएफओ की ओर से देश के सभी पीएफ दफ्तरों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। पेंशनरों को इस साल डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा करवाने के बाद ही पेंशन मिल सकेगी क्योंकि पेंशन लाभ के लिए आधार नंबर को अनिवार्य कर दिया गया है। अमृतसर के सब रीजनल ऑफिस के तहत 27 के करीब पेंशनर आते हैं। इनमें 12 हजार पेंशनर्स अमृतसर, 5 हजार गुरदासपुर, 2 हजार तरनतारन और 8 हजार पठानकोट से हैं जिसमें जम्मू-कश्मीर के पेंशनर्स भी शामिल है।

पहलेहोता था यह प्रोसेस

इससेपहले कर्मचारी पेंशन योजना-1995 के अंतर्गत प्रत्येक वर्ष सभी पेंशनर्स को पेंशन जारी रखने के लिए ईपीएफ ऑफिस में 31 दिसंबर तक लाइफ सर्टिफिकेट जमा करवाना अनिवार्य होता था। यह सर्टिफिकेट एक कागज के फार्म के रूप में होता था जिसे पेंशनर्स के खाते वाले बैंक की ओर से अटेस्ट किया जाता था। बैंक से अटेस्टिंग के बाद पेंशनर्स की ओर से इसे ईपीएफ ऑफिस में जमा करवाया जाता था। अगर कोई पेंशनर्स इस सर्टिफिकेट को जमा नहीं करवाता था तो उसकी पेंशन रोक ली जाती थी।

डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा करवाने के लिए ईपीएफ ऑफिस में सुविधा प्रदान की गई है। रीजनल पीएफ कमिश्नर योगेश कुमार ने इसके लिए विशेष टीम का गठन किया है। अमृतसर के सब रीजनल ऑफिस में चार मशीनें इस काम के लिए लगी हैं, जिस पर विभाग के आधा दर्जन कर्मचारियों को तैनात किया गया है। सुबह 10 से दोपहर बाद तक यह काम जारी रहता है। रीजनल कमिश्नर योगेश कुमार का कहना है कि इस काम में लगे कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि पेंशनर्स को किसी भी तरह की दिक्कत पेश आने दी जाए। यदि किसी पेंशनर्स को कोई दिक्कत पेश आती है तो वह उनसे मिल सकता है।

रीजनल पीएफ कमिश्नर योगेश कुमार ने बताया कि इसके लिए विशेष टीम गठित की गई है ताकि पेंशनर्स परेशान हों।

जानकारी

खबरें और भी हैं...