पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • एमसी चुनाव की रंजिश: हार बर्दाश्त नहीं हुई तो पीट दिया जीते हुओं को

एमसी चुनाव की रंजिश: हार बर्दाश्त नहीं हुई तो पीट दिया जीते हुओं को

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मौड़ मंडी (बठिंडा)/ अमृतसर । काउंसिल चुनाव में शहर के वार्ड-7 मौड़ खुर्द से अकाली प्रत्याशी बलवीर कौर जीत गईं। शुक्रवार को उन्होंने विजयी जुलूस निकाला। चुनाव हार गई आजाद प्रत्याशी मंजीत कौर के समर्थक इसी दौरान अकाली समर्थक काे पीट रहे थे। बलवीर के पति आत्मा सिंह व अन्य ने ऐसा करने से मना किया तो दोनों गुटों में मारपीट शुरू हो गई। ईंट-पत्थर बरसने लगे। गैर अकाली गुट ने तलवारों से हमला कर आत्मा सिंह समेत तीन को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। स्थिति काबू करने के लिए पुलिस को हवाई फायर करने पड़े। जानकारी के अनुसार, मंजीत कौर पहले अकाली दल में ही थी।
आपस में भिड़े अकाली व आजाद प्रत्याशी समर्थक, पुिलस ने किया हवाई फायर

काउंसिल चुनाव के नतीजे आने के बाद शुक्रवार को शहर के वार्ड 7 मौड़ खुर्द में अकाली दल के विजयी उम्मीदवार बलवीर कौर का वार्ड में विजयी जुलूस निकाला जा रहा था। इस दौरान जब यह विजय जुलूस आजाद प्रत्याशी मंजीत कौर के घर के नजदीक पहुंचा तो, वहां अकाली व आजाद प्रत्याशी के समर्थक आपस में भिड़ गए। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची मौड़ पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत करवाने की कोशिश की, लेकिन मामला बिगड़ता देख पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। जिसके बाद मामला शांत हुआ। इस घटना में कई लोग जख्मी हो गए। जिन्हें इलाज के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया गया।
समर्थक को पीटने को लेकर हुआ दोनों में झगड़ा
सिविल अस्पताल में आत्मा सिंह वासी मौड़ खुर्द ने बताया कि उनकी पत्नी बलवीर कौर मौड़ मंडी के वार्ड नंबर 7 से अकाली दल के टिकट पर चुनाव लड़ी थी और चुनाव जीत गई। शुक्रवार को वे अपने समर्थकों के साथ इलाके में धन्यवादी दौरा कर रही थीं। इस दौरान जब गांव के ही सुखप्रीत सिंह जो उन्हीं के पार्टी के समर्थक हैं के घर के पास पहुंचे थे। जहां उन्होंने देखा कि वार्ड नंबर 7 से ही अकाली दल से बागी होकर बतौर आजाद प्रत्याशी चुनाव लड़ने वाली मंजीत कौर के समर्थक सुखप्रीत को पीट रहे थे, क्योंकि सुखप्रीत ने बलवीर कौर की हिमायत की थी। जब उन्होंने आजाद प्रत्याशी समर्थकों को रोका तो, वहां दोनों गुटों में झगड़ा हो गया।
इस दौरान आजाद प्रत्याशी समर्थकों ने आत्मा सिंह, सुखप्रीत सिंह, जसवीर सिंह व ईश्वर सिंह पर तलवारों से हमला कर दिया। जिसमें तीनों गंभीर जख्मी हो गए। जिन्हें तुरंत इलाज के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं आजाद समर्थक संजीव कुमार के भाई दीपा सिंह वासी मौड़ खुर्द ने बताया कि वह बाइक पर अपनी बहन को ट्यूशन से लेने जा रहे थे। जब वे शहर के अस्पताल बाजार में पहुंचे, तो वहां मौजूद बलवीर कौर के पति आत्मा सिंह, उनका बेटा करतार सिंह करीब एक दर्जन लोगों के साथ उसे घेर कर तेजधार हथियारों से उस पर हमला कर दिया। इसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया। आजाद समर्थक तिरलोक नाथ शर्मा ने बताया कि वोटों की रंजिश के कारण अकाली समर्थकों ने उनके घर पर ईट व पत्थरों से हमला किया। जिसके बाद दोनों पक्षों टकराव हो गया।