पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Please Submit The Documents To The Corporation Within 72 Hours

नगर निगम ने 72 घंटे में कहा जमा करो दस्तावेज, रेस्टोरेंट एसोसिएशन पहुंचा मंत्री की शरण में।

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


अमृतसर .दरबार साहिब के आसपास बने होटलों का मामला कैबिनेट मंत्री अनिल जोशी के दरबार में पहुंच गया है। पार्षद जरनैल सिंह ढोट के नेतृत्व में शनिवार को जोशी से मिले होटल रेस्टोरेंट वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों ने होटल इंडस्ट्री को तबाह होने से बचाने की गुहार लगाई है।

एसोसिएशन का कहना है कि नगर निगम ने उन्हें 72 घंटे में तमाम दस्तावेज लाने को कहा है, जो कि संभव नहीं है। ऐसा न करने पर बिजली, पानी और सीवरेज के कनेक्शन काटने की चेतावनी दी गई है। एसो. के अनुसार उन्हें जवाब दायर करने के लिए 10 दिन का समय दिया जाए। जोशी ने मौके पर ही नगर निगम के कमिश्नर भूपिंदर सिंह राय को इन्हें एक सप्ताह का समय दिए जाने के आदेश दे दिए हैं।


एसो. के चेयरमैन सुरिंदर सिंह लाली और प्रधान सुरिंदर सिंह ने कहा कि होटल मालिकों की ओर से निगम को पिछले दस वर्षों से भी अधिक समय से कमर्शियल हाउस टैक्स, सीवरेज और बिजली का बिल भी कमर्शियल के अनुसार दिए जा रहे हैं। पंजाब सरकार को लग्जरी टैक्स दिया जा रहा है।

ऐसे में यह होटल अवैध कैसे हो सकते हैं। निगम के इस रवैये से होटल टूरिज्म पर काफी असर पड़ रहा है। पर्यटकों से कम किराया लेकर उन्हें बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं। घरों में चल रहे और अपना रिकार्ड मेनटेन नहीं करते। सुरक्षा की दृष्टि से भी यह खतरनाक बने हुए हैं। ऐसे अवैध होटलों को भले ही बंद कर दिया जाए, लेकिन जिनके पास पूरी सुविधाएं हैं, उन्हें तंग न करें।

एसो. सचिव जेएस वधवा ने कहा कि वह निगम को बनता टैक्स और जुर्माना देने के लिए तैयार हैं। अभी भी कई अवैध निर्माण जारी हैं। उन्हें क्यों नहीं रोका जा रहा। निगम के इसी रवैये से तंग आकर कुछ होटल मालिक होटल बेचने को मजबूर हो गए हैं।

एसो. नियमों को ताक पर रख कर निर्माण करने वालों के खिलाफ है। इस अवसर पर सुखबीर सिंह, बीएस सचदेवा, कर्मजीत सिंह, मदन लाल, मनिंदर सिंह भी मौजूद थे।