• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • सिविल अस्पताल में मरीजों को लूट रही प्राइवेट एंबुलेंस

सिविल अस्पताल में मरीजों को लूट रही प्राइवेट एंबुलेंस

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बठिंडा। सिविल अस्पताल में अब फिर से प्राइवेट एंबुलेंस चालक सक्रिय हो गए हैं। सिविल अस्पताल के स्टाफ की मिलीभगत के चलते प्राइवेट एंबुलेंस चालक मरीजों के परिजनों से मनमाना किराया वसूल रहे हैं। अस्पताल प्रबंधन सब कुछ जानते हुए भी इनके खिलाफ कोई सख्त एक्शन नहीं ले रहा है।

ऐसे फंसाते हैं जाल में

सिविल अस्पताल परिसर में प्राइवेट एंबुलेंस को चौबीस घंटे खड़े होते देखा जा सकता है। सिविल अस्पताल के एमरजेंसी विभाग के अलावा चिल्ड्रन अस्पताल के बाहर भी प्राइवेट एंबुलेंस खड़ी रही हैं। एंबुलेंस के चालकों ने सिविल अस्पताल के स्टाफ के साथ सेटिंग कर रखी है।

ये लोग डिस्चार्ज हो रहे मरीजों को यह कहते हैं कि सरकारी एंबुलेंस प्राइवेट की तुलना में महंगी पड़ती है। इस लिए वे उन्हें प्राइवेट एंबुलेंस को किराए पर उन्हें करवा देंगे। मरीज के परिजन जब मान जाते हैं तो वे झट से प्राइवेट चालकों को फोन कर के मौके पर बुला लेते हैं।
सिविल अस्पताल में राहुल ने बताया कि उन्हें अपने मरीज को लुधियाना ले कर जाना था, उन्हें बताया गया कि लुधियाना जाना है तो प्राइवेट एंबुलेंस करवा लो वह सस्ती पड़ती है। राहुल ने बताया कि जब उन्होंने एंबुलेंस वाले से बात की तो उसने 12 रुपए प्रति किलोमीटर का रेट बताया। जबकि सरकारी एंबुलेंस का रेट 10 रुपए प्रति किलोमीटर है। राहुल ने बताया कि प्राइवेट एंबुलेंस चालक अस्पताल में मरीजों को लूटने का काम कर रही है।

नियमों का विपरीत बनी है एंबुलेंस

शहर के सड़कों में दौड़ रही अधिकांश प्राइवेट एंबुलेंस अवैध तौर पर चल रही हैं। किसी ने टवेरा, इनोवा तो किसी ने बोलेरो गाड़ी को एंबुलेंस बना रखा है। शहर की 70 फीसदी एंबुलेंस डीटीओ विभाग के पास से पास नहीं हैं। एंबुलेंस में जो सुविधा मरीजों को मिलनी चाहिए वे सुविधा इन प्राइवेट एंबुलेंस में नहीं मिल रही है। डीटीओ विभाग भी इन अवैध एंबुलेंस के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है।

एंबुलेंस को कर देंगे बाहर

सिविल अस्पताल परिसर में प्राइवेट एंबुलेंस के खड़े होने पर पाबंदी लगाई गई है। अगर फिर कोई अपनी एंबुलेंस खड़ी कर रहा है तो उसे बाहर कर दिया जाएगा। डॉ.तेजवंत सिंह रंधावा, सिविल सर्जन, बठिंडा

किए जाएंगे चालान

सिविल अस्पताल में अगर प्राइवेट एंबुलेंस खड़ी हो रही हैं तो उन्हें बाहर करवा दिया जाएगा। नियमों की अनदेखी करने वालों के चालान कर दिए जाएंगें। संजीवमित्तल, एसएचओ कोतवाली, बठिंडा


खबरें और भी हैं...