पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • रेलवे कंप्लेंट इंस्पेक्टर ने जाली सर्टिफिकेट से हासिल की नौकरी : सोहन सिंह

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रेलवे कंप्लेंट इंस्पेक्टर ने जाली सर्टिफिकेट से हासिल की नौकरी : सोहन सिंह

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधरमें कार्यरत रेलवे के ईआरसी कंप्लेंट इंस्पेक्टर मनमोहन सिंह पर गंभीर आरोप लगे हैं। बीएसएफ से रिटायर्ड इंस्पेक्टर सोहन सिंह राणा ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि ‘मनमोहन सिंह ने 1979 और 1981 में हुए दो खोखो नेशनल टूर्नामेंट में मेडल लेने का दावा करते हुए जाली सर्टिफिकेट लगा रेलवे में स्पोर्ट्स कोटे में नौकरी हासिल की थी।

उन्होंने कहा कि मुझे 2010 में पता चला कि कि उन्होंने जाली सर्टिफिकेट लगा नौकरी ली है तो मैंने फिरोजपुर डिविजन से मनमोहन के नेशनल के सर्टिफिकेटों की कापियां आरटीआई से हासिल कीं। इन कापियों की सत्यता जानने के लिए उन्हें महाराष्ट्र और पटियाला भेजा गया जहां ये टूर्नामेंट हुए थे। एक सर्टिफिकेट 28-09-1979 का पोलो ग्राउंड पटियाला में हुए खोखो नेशनल टूर्नामेंट का है। जब हमने पंजाब डायरेक्टर स्पोर्ट्स से पूछा कि क्या ऐसा कोई टूर्नामेंट वहां हुआ था तो जवाब मिला उस दिन हमारी जानकारी में कोई टूर्नामेंट नहीं हुआ था। दूसरा सर्टिफिकेट 27-12-1981 का है जो महाराष्ट्र के कोलापुर जिले के इचलकरंजी में हुआ था। डायरेक्टर स्पोर्ट्स महाराष्ट्र ने हमें चिट्ठी लिख स्पष्ट किया है कि उन्हें इस टूर्नामेंट बारे कुछ नहीं पता और ही 23 से 27-12-1981 में कोई टूर्नामेंट हुआ था।

दोनों सर्टिफिकेटों के जाली साबित हो जाने के बाद हमने रेलवे के विजिलेंस जीएम, रेलवे मिनिस्ट्री और प्रधानमंत्री दफ्तर में भी शिकायत की है कि उक्त अफसर को तुरंत बर्खास्त कर उस पर जालसाजी का केस दर्ज किया जाए और जल्द सरकार को हुई आर्थिक हानि की भरपाई की जाए। हमें जानकारी मिली है कि विजिलेंस ने जांच बीच में ही छोड़ फाइल बंद कर दी है। रेलवे में व्याप्त इस तरह के भ्रष्टाचार का पर्दाफाश होने के बावजूद अब तक कार्रवाई होना महकमे की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाता है।

सोहन िसंह राणा ने कहा कि शिकायत करने पर भी रेलवे ने नहीं की जांच।

आरोप निराधार हैं, सर्टिफिकेट असली हैं- मनमोहन सिंह

इससंबंध में इस्पेक्टर मनमोहन सिंह ने बताया कि पिछले चार साल से राणा मुझे परेशान कर रहा है। मेरे सारे सर्टिफिकेट असली हैं। परेशान होकर मैंने राणा पर मानहानि का मुकदमा भी किया था। उसने मुझसे माफी मांगी तो मैंने उसे माफ कर मानहानि का मुकदमा वापस ले लिया था। मैं भारत के 14 राज्यों में 12 नेशनल खेल चुका हूं। टूर्नामेंट भी हुआ था और मेरे सर्टिफिकेट भी असली हैं। आरोप पूरी तरह निराधार हैं। राणा को किसी ने मिसगाइड किया है। बता दें कि मनमोहन सिंह रेलवे में रिजर्वेशन से जुड़ी शिकायतों के निरीक्षक हैं।

प्रेस कांफ्रेंस

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें