पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • बीबीके रोड का वर्कआर्डर जारी बाकी सड़कों का काम लटका

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीबीके रोड का वर्कआर्डर जारी बाकी सड़कों का काम लटका

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवारको निगम कमिश्नर गुरप्रीत सिंह खैहरा और निगम ठेकेदारों के बीच हुई रिव्यू मीटिंग में करीब चार महीने से लटका बावा खेल रोड का वर्कआर्डर जारी हो गया। रोड का टेंडर पहले ही लग चुका है लेकिन पंजाब इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बोर्ड से मंजूरी मिलने के चलते वर्क आॅर्डर जारी नहीं हो रहा था।

अब लोगों के दबाव में 6.50 करोड़ की लागत से तैयार होने वाली रोड संबंधी मेयर सुनील ज्योति ने एंटीसिपेशन पर काम करवाने का निर्णय लिया है। निगम के लिए चुनौती इस बात की है कि शहर की जिन सड़कों के टेंडर निकाले जा चुके हैं और ठेकेदार इनके निर्माण के लिए एग्रीमेंट नहीं कर रहे वे कैसे समय पर बनाई जाएं। इसके लिए निगम ने दोबारा से टेंडर निकालने का फैसला किया है।

हालांकि टेंडरिंग की प्रक्रिया में समय लगने के कारण यह सड़कें इस साल भी नहीं बन पाएंगी। इसका मुख्य कारण सर्दी आने पर प्लांट बंद होना और चुनाव आचार संहिता के बीच काम बंद हो जाना है। हालांकि जानकार कहते हैं कि जिन सड़कों के लिए पैसा जारी हो चुका है उसके निर्माण में कोई मुश्किल नहीं है लेकिन काम में तेजी लानी होगी।

ठेकेदारों और अफसरों के बीच लंबी मीटिंग में निगम की जद्दोजहद इस बात की है जो 106 छोटी-बड़ी रोड्स को बनाने के लिए ठेकेदार आगे नहीं रहे हैं, वह पूरी करने का रास्ता साफ हो जाए। कारण यह है कि सर्दी शुरू होते ही लुक बजरी की सड़कें बनने का काम बंद हो जाएगा। वहीं, ठेकेदारों ने पहले ही औसतन प्रति फर्म 5 से 7 करोड़ के काम ले रखे हैं लेकिन उनके पास पर्याप्त संसाधन नहीं होने के कारण वे कुछ सड़कों के टेंडर भरने के बाद भी एग्रीमेंट करने से पीछे हट रहे हैं। खैहरा ने ठेकेदारों को कहा है कि जिन सड़कों के टेंडर अलॉट हुए हैं वह उनके जल्द एग्रीमेंट करें। इसके लिए उन्हें एक दिन का समय दिया गया है। मंगलवार को सरकारी छुट्टी होने के बावजूद बीएंडआर स्टाफ ऑफिस में मौजूद रहेगा।

साथ ही उन्होंने कहा है कि जो एग्रीमेंट नहीं होंगे उन पर बुधवार को सख्त एक्शन लिया जाएगा। ठेकेदारों की अर्नेस्ट मनी जब्त कर लेंगे। ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट भी किया जा सकता है। एक रिव्यू मीटिंग में फैसला लिया गया है कि ठेकेदारों को एग्रीमेंट साइन करने के लिए एक दिन और दिया जाए। एसई कुलविंदर सिंह ने कहा कि सोमवार को भी ठेकेदारों ने एग्रीमेंट साइन किए हैं। अभी 85 के लगभग एग्रीमेंट साइन होने हैं। उम्मीद है कि मंगलवार को काफी ठेकेदार एग्रीमेंट कर लेंगे। अगर ठेकेदारों ने ऐसा किया तो अर्नेस्ट मनी जब्त कर लेंगे। कुछ ठेकेदारों का काम पक्के तौर पर रोक दिया जाएगा। उन्होंने कहा- ठेकेदार एग्रीमेंट इसलिए साइन नहीं कर रहे हैं क्योंकि केपेसिटी से ज्यादा काम ले लिया है और अब पूरा करने के साधन नहीं है।

राहत : सड़कों के 63 काम पूरे किए

नगरनिगम ने सड़कों इंटरलाॅकिंग टायलों के 63 काम पूरे कर लिए हैं। ये माडल टाउन, इंडस्ट्री एरिया, सेंट्रल सिटी में हुए हैं। जबकि सौ काम ऐसे में जिनका 25 फीसदी काम ही बचा है। ये अगले दो हफ्ते में कंप्लीट होने की आस है। वैसे 184 करोड़ की ग्रांट से 469 कामों की लिस्ट बनी है। दो सौ काम पेंडिंग हैं।

जालंधर | ठेकेदार ने आल इंडिया रेडियो के सामने वाली सड़क मिट्टी पर ही बना दी है। सोमवार को लुक बजरी की सड़क बिना बेस साफ किए बनाने से लोगों में रोष है। मिट्टी पर सड़क बनाने से मटीरियल ज्यादा देर तक नहीं टिकेगा। एरिया के लोगों ने मांग की है कि सड़क बनाने की जांच की जाए। यह सड़क खराब हालत में थी और कई सालों बाद बन रही है। लोगों ने पब्लिक फंड की बर्बादी पर नाराजगी जताई है।

जेआईटी के 140 कामों पर कंस्ट्रक्शन शुरू होगी | पेडिंग2 सौ कामों में 140 काम जालंधर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट पूरे करेगा। अभी टेंडर किए गए हैं। कंस्ट्रक्शन बाकी है।

तकनीकी आॅडिट में सारे काम पास | थर्डपार्टी इंस्पेक्शन कंपनी ईआईएल करीब 150 कामों की रिपोर्ट दे चुकी है। इनमें कोई बड़ी गड़बड़ी सामने नहीं आई है।

स्पेशल परमिशन से काम करना संभव | जोकाम चुनाव कोड आफ कंडक्ट लगने से पहले चल रहे होते हैं। पैसा सरकार रिलीज कर चुकी होती है। उन्हें चुनाव आयोग को जानकारी देकर चालू रखा जा सकता है। ताकि प्रोजेक्ट में देरी पर वित्तीय नुकसान हो। इस लिए कोड लगने से पहले टेंडरिंग करके वर्कआर्डर होना चाहिए।

} कम लागत का एस्टीमेट बनता है।

} निगम हाउस और एफएंडसीसी की मंजूरी मिलती है।

} टेंडर निकलते हैं, एक से दो हफ्ते तक बिडिंग का शेड्यूल होता है।

} बिडर ऑनलाइन बोली देते हैं।

} फिर 3 से 6 महीने के समय के अंदर सड़कों के काम किए जाते हैं।

निगम के पास सर्दी से पहले डेढ़ महीने का समय है। इसलिए एस्टीमेट आदि पहले ही बने हैं। टेंडर दोबारा निकलेंगे। तुरंत काम अलाॅट कर वर्कआॅर्डर करना होगा।

ये मेन रोड बननी बाकी

}अर्बन इस्टेट } गोल्डन एवेन्यू } मिट्ठापुर रोड } राजा गार्डन } 120 फुट रोड } माॅडल टाउन में सरकारी स्कूल रोड। } पिम्स के सामने गढ़ा रोड। } जीटीबी नगर 66 फुट रोड।

} ठेकेदारों ने जितनी सड़कों का काम नहीं लिया, उनके टेंडर दोबारा होंगे

} प्रोसीजर में कम से कम 2 हफ्ते लगेंगे

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें