• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • साढ़े 4 साल बाद पार्षद अरुणा वोटों की गिनती में फिर जीतीं

साढ़े 4 साल बाद पार्षद अरुणा वोटों की गिनती में फिर जीतीं

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डीसीकेके यादव ने 2012 में निगम चुनाव में वोटों की गिनती के मामले में फैसला कौंसलर अरुणा अरोड़ा के पक्ष में दिया है। उनसे हारे शिअद कैंडिडेट डाॅ. एसएस भट्टी ने केस दायर कर कहा था कि वोटों की गिनती गलत हुई है। ये दोबारा की जाए। सिटी के वार्ड नंबर 55 से कांग्रेस प्रदेश सचिव मनोज अरोड़ा की प|ी अरुणा अरोड़ा कांग्रेस से कैंडिडेट थीं। अरुणा को 2589 वोट तो डाॅ. भट्टी को 1704 वोट मिले थे। डाॅ. भट्टी ने प्रशासन के सामने दोबारा गिनती करने का केस रखा था।

एडवोकेट अशोक खन्ना ने कांग्रेस की तरफ से केके यादव के सामने रिकाॅर्ड चैक करने की दलील रखी। डीसी ने रिकाॅर्ड चेक किया तो अरुणा के हक में 2589 वोट निकले।

डाॅ. एसएस भट्टी ने दोबारा गिनती कराने काे किया था केस

खबरें और भी हैं...