• Hindi News
  • रहमत के छीटों के बीच अदा की ईद की नमाज

रहमत के छीटों के बीच अदा की ईद की नमाज

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नमाज अदा करने के बाद पुलिस से ईद मिलते रोजेदार -भास्कर

बस्ती बावा खेल में वसीमराजा गुडू की तरफ से ईद मिलन समारोह में मेयर सुनील ज्योति और भाजपा सीनियर नेता मोहिन्दर भगत खास तौर पर पहुंचे।

अशोक नगर बिलाल मस्जिद में विधायक मनोरंजन कालिया, डीसी केके यादव, रोबिन सांपला, पंजाब वक्फ बोर्ड के चेयरमैन।

रोजेदारों ने बताया ईद के दिन मस्जिदों में सुबह की प्रार्थना से पहले हर मुसलमान का फ़र्ज़ है कि वो दान या भिक्षा दे। इस दान को ज़कात उल-फ़ितर कहते हैं। -भास्कर

ईदगाह में सांसद चौधरी संतोख, हाजी आबिद हसन सलमानी और अन्य। -भास्कर

ईद की नमाज ईद-उल-फितर मुस्लिम कॉलोनी में मोहम्मद नौशाद मौलवी ने अदा करवाई। मुख्यातिथि पूर्व मंत्री अवतार हैनरी और पंजाब मुस्लिम फ्रंट और कांग्रेस पार्टी अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन मोहम्मद कलीम आजाद थे।

जालंधर | शिक्षक मोहम्मद दाउद आलम के दकोहा में पड़ते अरमान नगर स्थित निवास में ईद मिलन पार्टी हुई। यहां मोहम्मद दाउद आलम, फरहान आलम, रेहान आलम, शहनाज आलम, मुस्कान आलम, जीनत आलम, हिना आलम, जाहिद आलम, कादिर आलम, गुरप्रीत सिंह, जय प्रकाश, जतिंदर सिहं, दीपक कुमार, गुरविंदर सिंह थे।

बारिश में गुलाब देवी रोड पर ईद की नमाज पढ़ते लोग -भास्कर

जालंधर | शिया नमाज मुस्लिम नेशनल फ्रंट पंजाब के सदर याकूब हुसैन नकवी की सदारत में दरगाह बाबा कादरी नकोदर चौक में अदा की गई। जनाब सैयद मोहम्मद अली जैदी ने अदा कराई।

नमाज के बाद चला सेवइयां चखने का दौर

यूंतो ईद-उल-फितर पर्व पर नमाज अदा करने के लिए इस्लाम धर्म के अनुयायी सुबह से ही जमा होने शुरू हो गए थे। सैकडों की संख्या में मुसलमानों ने नवाज अदा की और सदका, फितरा, जकात जमा कराई और आर्थिक पक्ष से कमजोर लोगों को दान भी दिया। ईद की नमाज के बाद शुरू हुआ सेवइयों और पकवानों को चखने-चखाने का दौर। छोटों ने बड़ों को मुबारकबाद दी तो बड़ों ने उन्हें ईदी दी।

मेरे शहर में ईद

ईद रमज़ान का चांद डूबने और ईद का चांद नज़र आने पर उसके अगले दिन चांद की पहली तारीख को मनाई जाती है। इसलामी साल में दो ईदों में से यह एक है (दूसरा ईद उल जुहा या बकरीद कहलाता है)। पहला ईद उल-फ़ितर पैगम्बर मुहम्मद ने सन 624 ईसवी में जंग-ए-बदर के बाद मनाया था।

सिटी रिपोर्टर | जालंधर

महीने भर के उपवास के बाद रोजेदारों ने ईदगाहों और मस्जिदों में पहुंचकर ईद की नमाज पढ़ी और गले मिल कर एक दूसरे को बधाई दी। इस्लाम धर्म के अनुयायियों ने नमाज अदा करके अल्ला ताला से बरकत और अमन शांति की दुआ मांगी। हालांकि जब नमाज अदा की जा रही थी तो बारिश की बूंदें बरसने लग पड़ी थीं। नमाजी इसे खुदा की रहमत (छीटे) समझ कर दुआएं मांग रहे थे। मस्जिद के बाहर खिलौनों, मिठाइयों चाट पकौड़ी की दुकानें सज गई थीं। नमाज अदा करने के बाद लोगों ने जमकर खरीदारी भी की और एक दूसरे के गले मिलकर ईद की बधाई दी। ईद-उल-फितर पर्व को देखते हुए ईदगाह के पास पुलिस बल तथा खुफिया एजेंसियों के लोग भी लगातार निगाहें जमाए हुए थे। ईदगाह में इमाम खुर्शीद आलम ने नमाज अदा कराई और तकरीर हाफिज अदनान सा’ब ने करवाई। यहां सांसद संतोख सिंह चौधरी, उसमान कुरैशी, हाजी आबिद हसन सलमानी, गयूर सलमानी, तस्लीम सलमानी, इजाज सलमानी, अमजद सलमानी, अनवर सलमानी, मुस्तफा सलमानी, जावेद सलमानी, नसीम अहमद, हाजी मोमी थे।

इसी तरह रेलवे रोड मस्जिद में हाफिज फुरकान, अशोक नगर की बिलाल मस्जिद में इमाम शोएब, मदरसा तालिम इस्लाम सलमानिया में हाफिज मनोवर ने नमाज अदा कराई। यहां विधायक मनोरंजन कालिया, रोबिन सांपला भी थे।