डॉ. अजय शर्मा का पंजाबी नाटक छल्ला रिलीज

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दोआबाकॉलेज में लेखक डॉ. अजय शर्मा की 12वीं किताब पंजाबी नाटक छल्ला मुड़ के नहीं आया का विमोचन किया गया। प्रिंसिपल डॉ. नरेश कुमार धीमान मुख्य मेहमान के तौर पर मौजूद रहे। कवि और प्रकाशक प्रो. मोहन सपरा, नॉवेलकार सिमर सिदोष, पारुल शर्मा विभागाध्यक्ष डॉ. सुखदेव सिंह, स्टाफ सैक्रेटरी प्रो. संदीप चाहल विशेष तौर पर मौजूद रहे। डॉ. अजय शर्मा ने कहा कि छल्ले का नाटकीय रूपांतरण एक एेसा प्रयास है जोकि पहली बार किसी भी लेखक द्वारा पूरे विश्व में किया गया। इससे पहले गानों के माध्यम से छल्ला सातवें आसमान को छू चुका है। यश चोपड़ा जैसे दिग्गज फिल्मकारों ने अपनी फिल्मों में छल्ले का प्रयोग गानों के रूप में किया। पंजाबी के प्रसिद्ध गायक गुरदास मान भी छल्ले को लेकर दुनिया के हर कोने में जाने गए। पंजाबी में छल्ला मुड़ के नहीं आया नाटक में उन्होंने पात्रों के माध्यम से छल्ला इस तरह जीवंत किया है कि पढ़ते-पढ़ते लगता है कि नाटक के पात्र किताब से निकल कर आपके साथ संवाद रचा रहे हैं। उनके उपन्यासों पर लगभग 25 एमफिल और दो पीएचडी हो चुकी हैं। प्रिंसिपल डॉ. नरेश कुमार धीमान ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि 96 पृष्ठों का पंजाबी नाटक छल्ला मुड़ के नहीं आया पाठकों के दिल में जगह बनाएगा और साहित्य के आकाश को छुएगा।

प्रिंसिपल नरेश कुमार धीमान, डॉ. अजय शर्मा, प्रो. मोहन सपरा, नाॅवलकार सिमर सिदोष, डॉ. सुखदेव सिंह, स्टाफ सैक्रेटरी प्रो. संदीप चाहल विशेष तौर पर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...