जालंधर के मेयर ने अपने ऑफिस में लगाया उल्टा तिरंगा, वायरल हुई फोटो

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर। अपने आॅफिस में तिरंगा और पंजाब सरकार का झंडा लगाने की परंपरा शुरू करने वाले जालंधर के मेयर सुनील ज्योति सारा दिन सोशल मीडिया में निशाने पर रहे। वजह रही उनके कैबिन में लगा उल्टा तिरंगा। लोग पुलिस कमिश्नर अर्पित शुक्ला के पास भी पहुंचे कि तिरंगे का अपमान करने वाले मेयर पर कानूनी कार्रवाई हो। मेयर ने सारे मामले की जांच के लिए कमिश्नर जीएस खैहरा को लेटर लिखा है। फेसबुक पर लोगों ने किया कमेंट...
- अॉफिस में मेयर ने प्रेस फोटोग्राफरों से फोटो खिंचवाई। वहां मौजूद ज्यादातर पत्रकारों ने भी उल्टे तिरंगे के सामने सेल्फी लीं।
- सुबह दिन चढ़ते ही सोशल मीडिया पर मेयर के साथ फोटो खिंचवाने वाले कुछ लोगों की तस्वीरें फेसबुक पर वायरल हो गई।
- इसके बाद हर कोई मेयर के खिलाफ कॉमेंट करने लगा।
- मंगलवार सुबह भास्कर टीम मौके पर पहुंची तो मेयर का कैबिन बंद था। दफ्तर खुला तो अंदर तिरंगा सही तरीके से था।
- मेयर सुनील ज्योति ने कमिश्नर जीएस खैहरा को लिखा है कि जांच में जो भी दोषी मिले उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।
गलती किससे हुई जांच होगी
- सोमवार को स्टाफ ने मेयर की कुर्सी के पीछे नेशनल और स्टेट गवर्नमेंट के फ्लैग रखे थे।
- मीडिया ने फ्लैग के साथ उनकी तस्वीरें ली थीं। कुछ समय बाद उन्होंने फ्लैग उल्टा लगा देखा।
- उसी समय ठीक करवा दिया। मेयर ने कहा कि नेशनल फ्लैग स्थापित करना उनके लिए गौरव की बात है।
- अपमान के बारे में तो काेई सोच भी नहीं सकता। स्टाफ ने फ्लैग लगाया था, गलती किससे हुई जांच होगी।
3 साल की सजा का प्रावधान
एडवोकेट राजकुमार भल्ला ने कहा कि अगर तिरंगा उलटा लहराया जाता है तो साबित होने पर तीन साल की सजा, जुर्माना या दोनों हो सकते हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें उल्टे तिरंगे के साथ मेयर की फोटोज...
खबरें और भी हैं...