सब इंस्पेक्टर धर्मवीर और 'वो' के बीच राजीनामा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जालंधर।


थाना तीन के पूर्व एसएचओ धर्मवीर और उसकी 'वो' के बीच 17 दिन बाद राजीनामा हो गया। धर्मवीर ने युवती को किसी तरह मना लिया, जिसके बाद युवती ने एसीपी वेस्ट रविंदरपाल सिंह संधू को राजीनामे संबंधी एफिडेविट कोरियर किया है। एफिडेविट में युवती ने साफ लिखा है कि वह एसएचओ धर्मवीर व उसके किसी भी पारिवारिक सदस्य पर कानूनी कार्रवाई नहीं चाहती है। एसएचओ के साथ उसका गिला-शिकवा दूर हो गया है और दोनों पक्षों में बिना किसी दबाव समझौता हो गया है। युवती ने एफिडेविट को नोटरी अटेस्ट करवाकर भेजा है। एसीपी संधू ने एफिडेविट मिलने की पुष्टि की है। उनका कहना है कि युवती और एसएचओ के बीच बाहर किस आधार पर राजीनामा हुआ, इस बारे उन्हें नहीं पता। चाहे युवती की तरफ से एफिडेविट आया, लेकिन मामले की जांच अभी जारी रहेगी।


बता दें कि 24 दिसंबर को भार्गव कैंप में सब इंस्पेक्टर धर्मवीर, उसकी पत्नी और 'वो' के बीच हंगामा हुआ था। भार्गव कैंप की रहने वाली युवती का कहना था कि उसने एक साल पहले एसएचओ से गाड़ी में शादी की थी और वह रोजाना उसके घर आता था। एसएचओ की पत्नी को इस बारे पता चल गया, जिसके चलते वह 24 दिसंबर को उसके घर आई। उसने एसएचओ को युवती से राखी बंधवाने के लिए कहा। मना करने पर एसएचओ की पत्नी ने पहले उसे पीटा और बाद में एसएचओ को भी थप्पड़ मारे।


युवती का आरोप था कि एसएचओ ने उसे अपने शादीशुदा होने बारे नहीं बताया था। थाना भार्गव कैंप में एसएचओ सहित तीन लोगों पर केस दर्ज कर लिया गया था। इसके बाद पुलिस कमिश्नर गौरव यादव ने एसएचओ धर्मवीर को सस्पेंड कर लाइन हाजिर कर दिया था। साथ ही उसकी विभागीय जांच भी खोल दी गई थी।

खाने पड़े थे थप्पड़

ञ्चधर्मवीर को पति बताने वाली ने भेजा एसीपी वेस्ट को एफिडेविट
ञ्चयुवती ने कहा-दोनों के गिले-शिकवे दूर, नहीं करवाना चाहती कार्रवाई, फिर भी मामले की जारी रहेगी जांच