दीनानगर में कालेज की छात्राओं के साथ छेड़छाड़

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

दीनानगर।


दीनानगर में दो अलग-अलग जगहों पर मनचलों ने कालेज की दो छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की। पहली घटना में छात्रा ने मनचले युवक न सिर्फ थप्पड़ रसीद किए बल्कि युवक को उसे बहन बनाकर माफी मांग जान छुड़ानी पड़ी। वीरवार दोपहर को कालेज की छात्रा मेन बाजार से गुजर रही थी। इस बीच एक मनचले युवक जोकि बहरामपुर का रहने वाला बताया गया है, ने छात्रा से छेड़छाड़ की। उक्त छात्रा ने युवक को सबक सिखाने के लिए जब उसे पकडऩा चाहा तो वह भाग निकला। जब छात्रा ने उसका पीछा किया तो दुकानदारों ने युवक को दबोच लिया। इस दौरान छात्रा ने अपने घरवालों को भी फोन पर घटना के बारे बता दिया। चारों तरफ से घिरा देख युवक के पास माफी मांगने के अलावा कोई और चारा नहीं बचा। लेकिन छात्रा ने उसे सजा दिए बिना छोडऩे से इंकार कर दिया। युवती ने पहले तो उसे थप्पड़ रसीद किए और बाद में दुकानदारों ने उसे माफी मांगने को कहा। आखिर युवक ने छात्रा से माफी मांगी और उसे बहन कर भविष्य में ऐसी हरकत न करने से तौबा करके छुटकारा पाया।


ऐसे पहुंचाया हवालात में


दूसरी घटना में एसएचओ लखवीर सिंह ने बताया कि कृष्णा नगर की छात्रा सुबह कालेज को जा रही थी। शिवाला मंदिर के सामने जीटी रोड को क्रास करते समय गांव चूहड़चक्क का रहने वाला युवक अमृतपाल उसके पास आया और उसकी बाजू पकड़ मोबाइल फोन पर छात्रा को अपनी मां से बात करने को कहा लेकिन युवती ने इंकार कर दिया। युवती ने जब अपनी बाजू युवक से छुड़ानी चाही तो हाथापाई में उसके हाथ से खून निकल आया। घर वापस लौट छात्रा ने अपनी मां का फोन चैक कर उसमें से युवक का मोबाइल नंबर लेकर उसे ट्रेस करवाया। जिसके आधार पर पुलिस ने अमृतपाल को हिरासत में लेकर केस दर्ज किया है।


वर्णनीय है कि दिल्ली में छात्रा से गैंगरेप की घटना के विरोध में बुधवार को ही शांति देवी आर्य महिला कालेज की छात्राओं न कैंडल मार्च निकाला था लेकिन देश भर में हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बावजूद मनचले युवकों की सोच में अभी कोई सुधार नहीं हो पा रहा है। जबकि युवतियां अपनी सुरक्षा के प्रति जरूर जागरूक हो रही हैं। जिसके परिणामस्वरूप वीरवार को हुई घटनाओं में छात्राओं ने साहस दिखाते हुए मनचले युवकों को सबक सिखाया।