• Hindi News
  • The Committee To Resolve The Conflict In The Anti

विरोध खत्म करने को बनी कमेटी में विरोधी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़. एक सप्ताह से पंजाब कांग्रेस में उठ रहे बगावती सुरों को शांत करने के लिए पंजाब मामलों के प्रभारी डॉ. शकील अहमद ने चार सदस्यीय कमेटी बनाई है। इनमें से तीन सदस्य ऐसे हैं जो पहले से बाजवा से नाराज हैं जबकि चौथा राहुल गांधी के नजदीकी माना जाता है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के स्पेशल इनवाइटी और सांसद मोहिंदर सिंह केपी कमेटी के चेयरमैन होंगे। लाल सिंह, किशोरी लाल शर्मा व महिला कांग्रेस प्रधान मालती थापर कमेटी में हैं।

कमेटी सभी नाराज सदस्यों की शिकायतें सुनेगी और एक महीने में अन्य सीनियर कांग्रेसी नेताओं के साथ बात कर रिपोर्ट सौंपेगी।

दो दर्जन दे चुके हैं इस्तीफे

प्रताप सिंह बाजवा की ओर से गठित टीम में दो दर्जन से ज्यादा सदस्यों ने इस्तीफे दे दिए हैं। कोई उपयुक्त स्थान न दिए जाने से नाराज है तो कोई अपने खिलाफ लड़े बागियों को ज्यादा ऊंचे ओहदे देने से नाराज है। मालती थापर को महिलाओं को ज्यादा स्थान न देने पर नाराजगी है।

इसलिए हैं विरोधी

ऐसा पहली बार हुआ है कि नाराज नेताओं को ही कमेटी में शामिल किया गया है। केपी, डॉ. मालती थापर और लाल सिंह पहले ही सूची पर आपत्ति जता चुके हैं। उनका कहना था कि सूची तैयार करते समय उनसे सलाह मशविरा नहीं किया गया। संभावना है कि वह नाराज सदस्यों की शिकायतों को ही अपनी रिपोर्ट में तरजीह देंगे। इससे प्रताप सिंह बाजवा की टेंशन बढ़ सकती है। चौथे सदस्य किशोरी लाल शर्मा राहुल गांधी की अमेठी सीट का काम देखते हैं। हाईकमान ने विरोधियों की शिकायतों को गंभीरता से लिया है।