पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • The Retired Police Man Crated Scene In Dc Office

पूर्व सैनिक का डीसी ऑफिस में हंगामा, जमकर काटा बवाल...

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जालंधर. रिटायर्ड पुलिस मुलाजिम ने विभाग के अधिकारियों पर परेशान करने का आरोप लगाते हुए डीसी ऑफिस के बाहर हंगामा खड़ा कर दिया। पुलिस मुलाजिम अजीत सिंह फौजी भी रह चुका है। बुधवार सुबह दस बजे अर्धनग्र होकर डीसी ऑफिस के सामने दीवार पर खड़ा हो गया। हाथ में कुछ कागज थे, जिसे लहराते हुए यह कहते रहे कि मुझे पर झूठे मुकदमे करवाए जा रहे हैं। अब बिजली चोरी का केस करने की धमकी दी जा रही है।

नई बारादरी थाने के एसएचओ ने पौना घंटा की मशक्कत के बाद अजीत सिंह को नीचे उतारा और थाने ले आए। अजीत सिंह का पैतृक गांव गिलजियां जिला होशियारपुर है। अभी वह 33ए, बेअंत नगर में रहते हैं। एसएचओ ने उन्हें समझा-बुझाकर उनके परिचितों के साथ भेज दिया। महकमे में इस पूर्व मुलाजिम को बेहद ईमानदार और भला आदमी माना जाता था।

दिमागी तौर पर परेशान है : एसएचओ
नई बारादरी के थाना प्रभारी विजय कंवर पाल का कहना है कि अजीत सिंह दिमागी तौर पर परेशान है। इसी परेशानी में उन्होंने आज डीसी ऑफिस के बाहर हंगामा किया। एसएचओ ने कहा कि पूरा मामला जानने के बाद विजय कुमार को उनके दोस्तों के हवाले कर दिया गया।

पिता थे फौजी, 1965 में हुए शहीद
अजीत सिंह के पिता बलवंत सिंह भी फौजी थे। १९६५ में जंग के दौरान वह जम्मू कश्मीर में शहीद हो गए थे। १७ साल की उम्र में अजीत सिंह भी फौज में भर्ती हो गए। एक साल में तीन पदोन्नति हासिल की। १९८९ में बैरक छोड़ जाने के कारण उन्हें फौज से निकाल दिया गया। बाद में वह पुलिस में भर्ती हुए। विभिन्न थानों में बतौर मुंशी तैनात रहे। एसपी हेडक्वार्टर उपिंदरजीत सिंह घुम्मण के रीडर भी रहे। २००६ में पुलिस से प्री-रिटायरमेंट ले ली। अजीत सिंह बोले- पिछले दिनों मुझे कमिश्नर दफ्तर में बुलाया गया। वहां कहा गया कि बिजली मीटर से छेड़छाड़ की है। केस हो जाएगा।

बड़ा मेहनती था अजीत सिंह : एसएसपी
जालंधर में एसपी हेडक्वार्टर रह चुके और फिलवक्त एसएसपी विजिलेंस उपिंदर जीत सिंह घुम्मण ने बताया कि अजीत सिंह मेहनती मुलाजिम था। अजीत सिंह उस समय घुम्मण के रीडर थे, जब वह एसपी हुआ करते थे। घुम्मण बोले- ड्यूटी के प्रति ईमानदार रहता था वह।