• Hindi News
  • Audience Be Insensible To The Voice Of The Harshdeep, Said Singing In The Studio Needed

सिंगर हर्षदीप की आवाज पर बेसुध हो झूमे दर्शक, बोलीं स्टूडियों में गाना भी जरूरी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लुधियाना. 'गायकी में स्टूडियो सिंगिंग व लाइव गाने का अपना एक अलग ही मजा होता है। दोनों में किसी भी तरह का फर्क नहीं किया जा सकता। इसके साथ ही अगर मैं स्टूडियो में नहीं गाऊंगी तो मुझे लाइव के लिए कोई नहीं बुलाएगा। स्टूडियो में अपनी आवाज को निखारने का मौका मिल जाता है। लेकिन लाइव गायकी में गलती की गुंजाइश नहीं होती। लोगों का रिएक्शन भी उसी समय मिल जाता है।' ये कहना था सूफी गायिका हर्षदीप कौर का।

हर्षदीप के अनुसार उन्हें गायकी की शुरुआत से ही पंजाबी होने का काफी फायदा मिला है। इसलिए मुझे हीर और कतेया करूं जैसे अच्छे गाने गाने का मौका मिल पाया है। सूफी गायिका हर्षदीप कौर लोधी क्लब में रॉयल स्टैग एमटीवी अनप्लग्ड के लिए लाइव कंसर्ट करने के लिए पहुंची। हर्षदीप के साथ गायक, लिरिसिस्ट और म्यूजिक कंपोजर जग्गी सिंह भी अपनी गायकी का जादू चलाने के लिए पहुंचे। दो रिएलिटी शो के टाइटल जीत चुकी हर्षदीप कौर ने अपनी गायकी से लुधियानवियों का दिल भी लूटा। इस दौरान कल्ब जनरल सेक्रेट्री मनोज गुप्ता कल्चरल सेक्रेट्री पवन गर्ग उपस्थित रहे।

दिल के जज्बात सिर्फ पंजाबी में ही निकलते हैं: मैं जल्द ही एक सिंगल रोमांटिक सांग निकालने जा रही हूं जिसे हर कोई गुनगुना सकेगा। इस गाने को मैंने खुद कंपोज करने की कोशिश की है जो मेरे दिल के अंदर से निकला है। सबसे बड़ी बात ये है कि दिल के जज्बात सिर्फ पंजाबी में ही निकलते हैं। वहीं जग्गी सिंह ने कहा कि उन्होंने कोक स्टूडियो में नॉन फिल्मी गाने रब्बा से शुरुआत की है।

पेरेंट्स को चाहिए कि बच्चों के टेलेंट पर जरूर काम करें
अगर बच्चे को बचपन में ही पता चल जाए कि वो भविष्य में क्या करना चाहता है तो उसे आगे तरक्की पाने में उतनी ही आसानी होती है व फोकस भी ज्यादा होता है। सूफी स्टाइल अपनाने पर पूछे सवाल में हर्षदीप ने कहा कि वो रिएलिटी शो में सबसे ज्यादा अलग दिखना चाहती थीं तो उन्होंने यह स्टाइल अपना लिया। जो बाद में भी उनका स्टाइल में शामिल हो गया।

हर्षदीप कौर व जग्गी सिंह ने गानों से लूटा सबका दिल
लोधी क्लब में रॉयल स्टैग एमटीवी अनप्लग्ड में दोनों सिंगर्स ने लाइव कंसर्ट पेश कर सबका दिल लूटा। हर्षदीप ने अपने प्रसिद्ध गाने कतेया करूं, हीर, ऊल जलूल, जुगनी और कबीरा जैसे गाने गा कर लोगों को अपने पांव थिरकाने पर मजबूर कर दिया। वहीं जग्गी ने भी रब्बा जैसे गाने गा कर सभी का मनोरंजन किया।

अगली स्लाइड्स में देखिए अन्य तस्वीरें।