• Hindi News
  • Death Of A Prisoner Serving A Sentence Of Two Years In Jail, Accused Of Poisoning

दो साल से जेल में सजा काट रहे कैदी की मौत, जहर देने का आरोप

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लुधियाना. सेंट्रल जेल में शुक्रवार की रात को एनडीपीएस एक्ट के तहत पिछले दो साल से सजा काट रहे एक कैदी की अचानक पेट में दर्द होने के कारण मौत हो गई। जिसके चलते शनिवार को सिविल अस्पताल में जज की मौजूदगी में कैदी का पोस्टमार्टम किया गया और विडियोग्राफी भी की गई। पुलिस ने शव को परिजनों के हवाले कर दिया है। कैदी की पहचान मुल्लांपुर का रहने वाले 42 वर्षीय अनिल कुमार के रूप में हुई है।

अनिल शादीशुदा था और उसके तीन बेटियां भी हैं। ताजपुर चौकी की पुलिस ने 174 की कार्रवाई कर दी है। जानकारी के अनुसार अनिल दिसंबर 2012 में नशा तस्करी के आरोप में जेल में सजा काट रहा था। शुक्रवार को अनिल पेशी के दौरान अदालत में आया था। पेशी भुगतने के बाद वह वापस जेल चला गया। जेल जाकर उसने नहा-धोकर खाना खाया और अपनी बैरक में चला गया। इसी दौरान रात को अचानक अनिल के पेट में दर्द उठने लगा। उसने इसकी जानकारी जेल कर्मियों को दी। अनिल को जेल में बने अस्पताल में भर्ती करवाया गया। लेकिन ज्यादा दर्द होने के कारण उसकी मौत हो गई।

जांच अधिकारी ने बताया कि शव का विसरा जांच के लिए भेज दिया है। विसरा की रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। अनिल के पिता लखपत राय का कहना है कि मई 2012 में अनिल की इलाके के ही कुछ युवकों से झगड़ा हो गया था। जिसमें युवकों ने अनिल के पेट में चाकू घोंप दिया था। जिसके चलते अनिल छह महीने डीएमसी अस्पताल में भर्ती रहा था। लखपत राय का कहना है कि अनिल पर हमला करने वाले युवक इसी जेल में सजा काट रहे है। उनका आरोप है कि उन्हीं युवकों ने अनिल को खाने में कुछ मिलाकर दिया था। जिसके चलते उसकी मौत हो गई।