अच्छे माक्र्स के लिए लें हैंडराइटिंग का सहारा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लुधियाना ।

दसवीं और बाहरवीं के लिए बोर्ड एग्जाम की तैयारी कर रहें स्टूडेंट्स के लिए यह समय काफी महत्वपूर्ण हैं। हर कोई अच्छे से अच्छे माक्र्स लाने के लिए जी-जान से तैयारियों में जुटा हुआ है। सीबीएसई बोर्ड के दसवीं कक्षा के छात्रों का पहला पेपर इंग्लिश का है। इसमें सब्जेक्ट पर पकड़ रखना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी है हैंडराइटिंग और प्रेजेंटेशन।

उत्साह न खोएं
सीबीएसई का अंग्रेजी का पेपर चूंकि लंबा होता है। इसीलिए अक्सर स्टूडेंट्स शुरू में ही थक जाते हैं। उन्हें चाहिए कि पहले पूरा पेपर ध्यान से पढ़े। ईजी पोर्शन को टिक कर लें और फिर पेपर सॉल्व करने की रणनीति तैयार करें। समय के हिसाब से सवालों का समय बांटे और समय-सीमा में रहकर ही जवाब दें।


सुंदर हो राइटिंग
अंग्रेजी का पेपर चूंकि थ्योरिटिकल होता है और लिखने के लिए मैटर भी ज्यादा होता है। इसीलिए ध्यान रखें की हर आंसर का प्रजेंटेशन बेस्ट हो । लॉन्ग आंसर में डेफिनेशन और महत्वपूर्ण तथ्यों को डिफरेंट पेन से हाई लाइट करें। राइटिंग का ख्याल रखें। पढऩे और समझने में जितनी आसानी होगी और माक्र्स भी उतने ही अच्छे मिलेंगे।


टू द प्वाइंट दें जवाब

कई बार स्टूडेंट्स यह सोचकर आंसर का मैटर लम्बा लिखते हैं कि ज्यादा माक्र्स मिलेंगे। लेकिन यह सही नहीं हैं परीक्षक मैटर ज्यादा देखकर नहीं बल्कि जवाब से जुड़े प्वाइंटस, फैक्ट्स को देखकर माक्र्स देते हैं। आंसर को अच्छे से एक्सप्लेन करें और रिपिटेशन से बचें।

कटिंग न करें, स्पेलिंग हो ठीक
इंग्लिश के पेपर में स्पेलिंग सबसे अहम हिस्सा होता है। हर स्पेलिंग को अच्छे से लिखकर याद करें। कोशिश करें कि आंसर-शीट में कटिंग में न हो। इससे कॉपी खराब लगती है और इम्प्रेशन भी बुरा जाता है।


मॉडल पेपर्स को जरूर सॉल्व करें
छात्रों को इस समय चाहिए कि वह पुराने मॉडल और अनसॉल्व्ड क्वेश्चन पेपर जरूर हल करें। एक तो उनकी एग्जाम टाइम के अंदर पेपर करने की प्रैक्टिस होगी, दूसरा प्रश्न-पत्र को हल करने का आइडिया भी हो जाएगा।