पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Ludhiana Mass Not Satisfied With The Railway Budget

दामाद जी, आपके दावे तो बहुत बेदम निकले...!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लुधियाना. रेल बजट से एक हफ्ता पहले रेल मंत्री पवन बंसल लुधियाना आए थे। स्टेशन का दौरा किया था और इसकी हालत को लेकर नाखुशी जाहिर की थी। जाते जाते ये भी कह गए थे कि इस शहर में मेरी ससुराल है और मैं इसका पूरा ख्याल रखूंगा। मगर बंसल का ये वादा बेदम निकला।

अगर साधारण शहरी की तरह सीधा सवाल पूछा जाए कि लुधियाना को क्या मिला? तो जवाब यही आएगा कि पंजाब के लिए जिन नई ट्रेनों का ऐलान हुआ है, उनमें से कुछ यहां से होकर गुजरेंगे।इसके अलावा लुधियाना से धुरी तक रेलवे लाइन इलेक्ट्रिक और डबल होगी।

मगर स्टेशन की सुविधाओं का क्या। लुधियाना के कम रेलवे रिजर्वेशन कोटे का क्या। यहां से शुरू की गई शताब्दी की बदहाली का क्या। सवाल बहुत हैं, जिन्हें भास्कर ने सिलसिलेवार आपके सामने रखा था, मगर रेल मंत्री एक का भी तसल्लीबख्श जवाब नहीं दे पाए। वैसे भी शहर जानता है कि बजट की बातें ऐलान तक सीमित रहती हैं। अगर ऐसा न होता, तो पिछले बजट के ऐलान ही स्टेशन की सूरत बदल चुके होते।