पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बाबुओं की मेज पर ही बना पीएसयू का रीजनल सेंटर

बाबुओं की मेज पर ही बना पीएसयू का रीजनल सेंटर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुक्तसरसमेत फिरोजपुर, फाजिल्का फरीदकोट जिलों के करीब दो सौ गांवों दर्जन भर शहरों के विद्यार्थियों के लिए उच्च शिक्षा का एक ही साधन पीएसयू का क्षेत्रीय केन्द्र दो दशक से अपनी इमारत को तरस रहा है।

पंजाब सरकार ने इसकी इमारत बनाने को सरकारी कॉलेज की जगह पंजाब विश्व विद्यालय के नाम तब्दील करने के आदेश तो दिए हैं। परंतु करीब एक साल बीत जाने के बावजूद यह फाइल अभी तक ‘बाबुओं’ की मेज पर पड़ी हुई है।

जानकारी के अनुसार पहले जमीन के गलत नंबर पाए गए फिर नक्शा गलत बनाया और अब दोबारा दुरुस्ती की जा रही है। बता दें विशेष सचिव उच्च शिक्षा ने 3 मार्च 2014 को उपायुक्त मुक्तसर को सरकारी कॉलेज मुक्तसर की 5 एकड़ जमीन पंजाब यूनिवर्सिटी के नाम तब्दील करने की मंजूरी दी थी।

रजिस्ट्रार पंजाब विश्व विद्यालय द्वारा भी 30 अप्रैल 2014 को सरकारी कॉलेज की 5 एकड़ जमीन की मालिकी बदलकर पंजाब विश्व विद्यालय के नाम करने के लिए जिला प्रशासन को लिखा गया था ताकि विश्व विद्यालय निर्माण के लिए योजना आगे चल सके।

परंतु अभी तक जमीन विश्वविद्यालय के नाम तब्दील नहीं हुई है। जमीन तब्दील होने के कारण विश्व विद्यालय द्वारा नक्शा तैयार करने निर्माण के लिए प्रोजेक्टर तैयार करने में देरी हो रही है।

देरी होने के कारण रीजनल सेंटर में पढ़ते विद्यार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस समय रीजनल सेंटर शिरोमणि गुरुद्वारा केन्द्र की टिब्बी साहिब कॉम्पलेक्स में स्थित इमारत में चल रहा है।

खस्ता हाल यह इमारत असुरक्षित करार दिया जा चुका है, परंतु कोई बदलाव होने के कारण मजबूरी में सेंटर यहीं चल रहा है। माल अधिकारियों के अनुसार हाल की घड़ी जमीन की गिरदाववरी पंजाब विश्व विद्यालय के नाम तब्दील की जाएगी, क्योंकि अभी तक गिरदावरी ही कॉलेज के नाम है, मालकी तब्दीली के लिए काफी कागजी कारवाई की जरूरत है। माल अधिकारियों के अनुसार रीजनल सेंटर के लिए 5 एकड़ जमीन देने का प्रबंध कर लिया है। (जसकरन)

^पहले जमीन के गलत खसरा नंबरों की कार्रवाई हो रही थी, जोकि अब दुरुस्त करके दोबारा केस तैयार किया गया है। इस जमीन की गिरदावरी कॉलेज के नाम है और मालिकी पंजाब सरकार की है, इसलिए गिरदावरी पंजाब यूनिवर्सिटी के नाम करने के लिए केस तैयार हो गया है और उम्मीद है कि माह के अंदर गिरदावरी तब्दील हो जायेगी। सुखप्रीतसिंह, उपमंडल मज