• Hindi News
  • Rajya
  • Punjab
  • Moga
  • मोगा में 252 बैंक की ब्रांच रही बंद, करीब 22 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित

मोगा में 252 बैंक की ब्रांच रही बंद, करीब 22 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित / मोगा में 252 बैंक की ब्रांच रही बंद, करीब 22 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित

Moga News - मुख्यश्रम आयुक्त भारत सरकार के साथ वार्ता विफल होने के बाद ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज फेडरेशन की घोषणा पर मंगलवार को...

Bhaskar News Network

Mar 01, 2017, 02:45 AM IST
मोगा में 252 बैंक की ब्रांच रही बंद, करीब 22 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित
मुख्यश्रम आयुक्त भारत सरकार के साथ वार्ता विफल होने के बाद ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज फेडरेशन की घोषणा पर मंगलवार को मोगा जिले के सभी सरकारी बैंकों के मुलाजिम हड़ताल पर रहे। इसके चलते जिले का 252 बैंक ब्रांचें बंद रही, जिससे 20-22 करोड़ के ऊपर तक लोगों का कारोबार प्रभावित हुआ। इस दौरान 3 हजार से ज्यादा मुलाजिम हड़ताल पर रहे। उनकी मांग है कि उन्हें नोटबंदी के दौरान किए अतिरिक्त कार्य के पैसे दिए जाएं और अन्य मांगों को लेकर सरकार से वार्ता विफल होने पर मंगलवार को देशभर में 10 लाख मुलाजिम हड़ताल पर हैं हालांकि निजी बैंकों ने काम-काज किया परंतु उनके कस्टमरों के चेक आज क्लीयरेंस में फंसे रहे और आपात जरूरत के लोगों को परेशानी हुई।

8 नवंबर, 2016 से हुई नोटबंदी के कारण बैंक मुलाजिमों को लोगों के नोट बदलने की प्रक्रिया को लेकर देर रात तक काम करते रहे थे और सरकार ने उन्हें अतिरिक्त कार्य के पैसे देने की बात कही थी परंतु जो वो अब तक पूरा नहीं कर पाई। इसको लेकर मुख्य श्रम आयुक्त के साथ वार्ता विफल होने से देशभर के लाखों मुलाजिम बिफर गए। यही नहीं तब से लोगों की परेशानियां भी समाप्त होने का नाम नहीं ले रही।

शहर में विभिन्न बैंकों के 74 के करीब एटीएम हैं परंतु मात्र दो ही चले वो भी दो-दो घंटे के लिए। सुबह जम्मू-कश्मीर बैंक का मेन बाजार में स्थित दो घंटे के लिए चला। जहां कैश लेने वाले लोगों की लाइन लग गई। दोपहर 2.00 से 4.00 बजे तक चैंबर रोड स्थित एचडीएफसी बैंक का एटीएम चला तो वहां भी भीड़ जुट गई।

74 के करीब एटीएम, चले केवल दो वो भी दो घंटे

पंजाब बैंक इम्प्लाइजफेडरेशन के चेयरमैन वरिंदर कौड़ा ने बताया कि आज की हड़ताल में सरकारी बैंकों की 252 के 3000 के करीब मुलाजिम हड़ताल पर हैं। उन्होंने बताया कि इससे 20 से 22 करोड़ तक का एक दिन का कारोबार प्रभावित हुआ है।

पेंशन के लिए रहे परेशान मंगलवारको अपनी पेंशन की राशि बैंक से निकलवाने आई एक बूढ़ी महिला सुरजीत कौर बैंक को लगे ताले को देख कर उदास हो गई। वो सांस लेने के लिए बंद बैंक की सीढ़ियों में बैठ गई। उसका कहना था कि अब उसे कल दोबारा आना पड़ेगा।

^दो दिन पहले बैंक में डाले मेरे चेक का खाते में कैश ही नहीं आया। मैं इसके सहारे आगे चेक काट कर दे चुका हूं। मंगलवार बैंक में मैं इसके सहारे आगे चेक काट कर दे चुका हूं। मंगलवार बैंक मेंआने से पता चला कि सरकारी बैंकों में हड़ताल के चलते चेक क्लीयरेंस में अटका हुआ है। केवलसिंह, कारोबारी।

पेंशन लेने आई महिला परेशान दिखी।

मोगा के मेन बाजार में एटीएम से कैश लेने को लगी भीड़।

^मुझे घरेलू काम के लिए पैसों की जरूरत है। सारा शहर घूम आया किसी में कैश नहीं। केवल इसी मेन बाजार वाले में कैश है। यहां भी भीड़ है। बैंकों की हड़ताल के दिन तो एटीएम चला देते। बहादुरडालवी, सेवानिवृत्त प्रिंसिपल।

फरीदकोट |फरीदकोट केसभी राष्ट्रीयकृत स्टेट बैंक ग्रुप की तमाम ब्रांचों में हड़ताल रही। इस दौरान इन बैंकों की 147 ब्रांचों में ताला लटके रहे और हड़ताल की वजह से करीब 30 करोड़ रुपए का लेन-देन प्रभावित हुआ। फेडरेशन की फरीदकोट शाखा के नेता शमशेर सिंह ने कहा कि यह हड़ताल राष्ट्रीयकृत स्टेट बैंकों की लंबित मांगों के प्रति केंद्र सरकार की अनदेखी के खिलाफ की गई है। फेडरेशन ने हड़ताल के माध्यम से बैंक कर्मियों की ग्रेजुएटी बहाल करने,नोटबंदी के चलते देर तक काम करने के बदले कर्मियों को अतिरिक्त भुगतान देने, नोटबंदी से हुए बैंकों के आर्थिक नुक्सान की पूर्ति करवाने, बैंकों के समायोजन करने की नीति बंद करने, आऊट सोर्सिग ठेकेदारी सिस्टम बंद करके बैंकों में स्थायी भर्ती करने की मांगें रखी गई है। फेडरेशन का मानना है कि आऊट सोर्सिग ठेकेदारी सिस्टम से बैंकों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। मसलन एटीएम में पैसा भरने की काम निजी कंपनियों के पास है और उपभोक्ता अक्सर एटीएम से नकली नोट निकलने की शिकायत कर रहे है। फेडरेशन ने चेतावनी दी है कि यदि केंद्र सरकार ने उनकी मांगों पर ध्यान दिया तो आने वाले दिनों में बड़ा संघर्ष किया जाएगा जिसकी जिम्मेवारी सरकार की होगी।

X
मोगा में 252 बैंक की ब्रांच रही बंद, करीब 22 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना