पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • ट्राला ट्रैक्टर की भिडं़त, चालक की कैबिन में फंसने से हुई मौत

ट्राला ट्रैक्टर की भिडं़त, चालक की कैबिन में फंसने से हुई मौत

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवारकी शाम गांव बिलासपुर से लौहारा जाते रोड पर मोगा की ओर से जा रहे ट्राले की बिलासपुर की ओर से रही ट्रैक्टर ट्राली से जबरदस्त टक्कर हो गई, जिससे ट्राला चालक गंभीर रूप से घायल हो गया।

इस दौरान उसे 108 एंबुलेंस की सहायता से कस्बा बधनी कलां के एक प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृतक करार दे दिया। मृतक ट्राला चालक जालंधर से ट्राले में सामान छोड़ रामपुराफूल की ओर जा रहा था। इस घटना में ट्रैक्टर चालक को मामूली चोटें आई। जानकारी के अनुसार 38 वर्षीय गांव सधाना थाना फूल (बठिंडा) निवासी सुखविंदर सिंह उर्फ बिंदर बुधवार को अपने ट्राले पर जालंधर से कुछ सामान छोड़ने के बाद वापस गावं जा रहा था। जैसे ही वह मोगा से बरनाला रोड पर स्थित गांव बिलासपुर लौहारा के बीच पहुंचा तो गांव बिलासपुर की ओर से रहे खाद की बोरियों से लदे ट्रैक्टर ट्राली से उसकी आपसी टक्कर हो गई।

टक्कर इतनी भीषण थीं कि ट्राले ट्रैक्टर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। इस दौरान ट्राला चालक सुखविंदर सिंह बुरी तरह घायल हो गया और ट्राले के कैबिन में फंस गया। उसे चौकी बिलासपुर के इंचार्ज एएसआई प्रीतम सिंह, हवलदार हरभजन सिंह, हवलदार मनजिंदर सिंह हवलदार गुरसेवक सिंह ने लोगों की सहायता से से बाहर निकाला और कस्बा बधनी कलां के एक प्राइवेट अस्पताल पहुंचाया, जहां उसे मृतक घोषित कर दिया। चौकी इंचार्ज एएसआई प्रीतम सिंह ने बताया कि उन्होंने मृतक चालक सुखविंदर सिंह की जेब से मिले फोन नंबरों के आधार पर उसके परिजनों को सूचित किया। वीरवार की दोपहर पुलिस की ओर से मृतक के परिजनों के बयान के आधार पर धारा 174 के तहत कार्रवाई करते हुए सिविल अस्पताल से शव का पोस्टमार्टम करवाने बाद वारिसों को सौंप दिया। पुलिस ने बताया कि मृतक पांच भाईयों में से सबसे छोटा था और अभी उसकी शादी नहीं हुई थीं। (संदीप)

घटना स्थल पर क्षतिग्रस्त कार और आॅटो।

मोगा | बुधवारकी रात कोटकपूरा रोड पर गांव सिंघावाला के नजदीक मोगा की ओर से रही कार समालसर की ओर से रहे छोटे हाथी (आॅटो)की टक्कर हो गई, जिसमें कार सवार दो व्यक्ति छोटा हाथी चालक घायल हो गए। इन्हें पुलिस ने सिविल अस्पताल भर्ती करवाया गया। यहां घायलों में से एक की गंभीर हालत को देखते हुए उसे फरीदकोट कॉलेज रेफर कर दिया। जानकारी के अनुसार बस्ती साधावाली निवासी छोटा हाथी चालक प्रभू ने बताया कि