पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आधुनिक तकनीक से कुष्ठ रोग का ईलाज संभव : डॉ. मिन्हास

आधुनिक तकनीक से कुष्ठ रोग का ईलाज संभव : डॉ. मिन्हास

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलेको कुष्ट रोग से मुक्त करने के लिए 30 जनवरी से 13 फरवरी तक चल रहे एंटी लेपरोसी फोर्टनाईट के अधीन सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल बुंगल में जिला नोडल अधिकारी डॉ. दीपक मिन्हास की अध्यक्षता में कुष्ट रोग संबंधी जागरूकता सेमिनार लगाया गया। इस दौरान डॉ. दीपक मिन्हास ने कहा कि कुष्ट रोग लाइलाज नहीं है। आधुनिक तरीकों से तैयार की गई दवाइयों से इस रोग को जड़ से खत्म किया जा सकता है। यह रोग किसी से हाथ मिलाने से नहीं होता। इसलिए हमें किसी कुष्ट रोगी से भेदभाव नहीं करना चाहिए बल्कि उसकी हर प्रकार से मदद करनी चाहिए तथा पीड़ित को पास के स्वास्थ्य केन्द्र में इलाज के लिए जाने हेतु प्रेरित करना चाहिए। इस दौरान सिविल अस्पताल के एनएलईपी सैल से आई प्रवेश कुमारी ने कुष्ट रोग संबंधी जानकारी देते बताया कि चमड़ी के ऊपर हलके फीके पीले रंग या लाल रंग के निशान कुष्ट रोग हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज की चमड़ी के ऊपर किसी प्रकार का निशान दिखाई दे तथा ठीक हो रहा हो तो तुरंत इसकी जांच करवानी चाहिए। कुष्ट रोग का जल्द पता लग जाने से यह पूरी तरह ठीक हो जाता है तथा सही समय पर उपचार करवाने से अपंगता से भी बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि कुष्ट रोग की जांच तथा उपचार हर सरकारी अस्पताल में पूरी तरह से निशुल्क है तथा एमडीटी की दवाई भी निशुल्क दी जाती है।

खबरें और भी हैं...