पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • रेलवे बोर्ड के नियम से खफा मुलाजिमों का प्रदर्शन, कहा फरमान वापस लो

रेलवे बोर्ड के नियम से खफा मुलाजिमों का प्रदर्शन, कहा-फरमान वापस लो

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नॉर्दर्नरेलवे मजदूर यूनियन के पटियाला रेलवे कर्मचारियों ने रेलवे बोर्ड के नये नियम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने रेलवे बोर्ड से इस तुगलकी फरमान वापस लेने के लिए कहा। नये नियम के मुताबिक 31 मार्च 2017 के बाद 4200 या उससे अधिक ग्रेड पे का सेफ्टी कैटेगरी से जुड़ा सुपरवाइजर मान्यता प्राप्त यूनियन का कार्यालय पदाधिकारी नहीं रह सकता, वह सिर्फ सदस्य ही रहेगा। इतना ही नहीं उस पर ट्रांसफर पॉलिसी भी लागू हो जाएगी। इससे पहले कार्यालय पदाधिकारी पर ट्रांसफर पॉलिसी लागू नहीं थी।

नार्दर्न रेलवे मेन्स यूनियन पटियाला ब्रांच के सेक्रेटरी अजीत सिंह चीमा के नेतृत्व कर्मियों ने सहायक मंडल इंजीनियर उत्तर रेलवे पटियाल के कार्यालय के बाहर नारेबाजी की। अजीत सिंह चीमा ने कहा कि सरकार ने यदि उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं दिया तो वह 6 मार्च को देश भर में काले दिवस के रुप में मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि रेलवे बोर्ड की ओर से रेलवे की सुरक्षा में लगे 4200 ग्रेड पे से जुड़े सुपरवाइजर अब रेलवे की किसी भी यूनियन में कोई पद नहीं ले सकेंगे। यह रेलवे बोर्ड का तुगलकी फरमान है।

इसका हम लोग विरोध करते है। रेलवे बोर्ड ने यह आदेश रेलवे के इस फैसले के बाद सेफ्टी कैटेगरी के अधिकारी मुलाजिम हर वक्त ड्यूटी के लिए सतर्क रहेंगे।

इस मौके पर अध्यक्ष समनप्रीत, उपाध्यक्ष किशनचंद्र, गुरमीत सिंह, जसविंदर सिंह, हरिंदर सिंह, राज कुमार, कमलप्रीत शर्मा, फूलचंद्र, हरिंदर सिंह मौजूद रहे।

रेलवे बोर्ड के नए नियम के खिलाफ प्रदर्शन करते नॉर्दर्न रेलवे मजदूर यूनियन मुलाजिम।

रेलवे बोर्ड ने आदेश वापस नहीं लिया तो 6 मार्च को मनाएंगे काला दिवस

खबरें और भी हैं...