पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • मिड डे मील: जिले को मिले 2 करोड़

मिड-डे मील: जिले को मिले 2 करोड़

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटियाला|सरकारी स्कूलोंके स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है। 3 महीने से मिड-डे मील का रुपया आने से बंद होने की कगार पर पहुंची स्कीम के लिए बुधवार को 2 करोड़ रुपए जारी कर दिए गए।

मिड-डे मिल के जिला मैनेजर राजीव गुप्ता ने भास्कर को बताया कि रुपयों को जिले के सभी ब्लाकों में बांट दिया गया है। बीईओ आगे इस पैसे को स्कूलों तक पहुंचा सकें। रुपयों से स्कूलों में मिड-डे मील तैयार करने वाली कुक का अक्टूबर तक का वेतन जारी कर दिया जाएगा।

शहर के सरकारी स्कूलों में तो ठेकेदार मील की सप्लाई करते हैं। गांवों में राशन खरीद कर स्कूलों में ही खाना तैयार किया जाता है। मिड-डे मील कुक फ्रंट के दर्शन सिंह बेलूमाजरा ने बताया कि पिछले 3 महीनों से फंड होने से राशन नहीं खरीदा जा सका था। चावल आटे का स्टॉक तो आम तौर पर स्कूलों के पास होता है। फंड होने के कारण खाना तैयार करने वाले अन्य सामग्री जिसमें मसाले, घी सिलेंडर नहीं खरीदा जा सका था। स्कूलों में टीचर जेब से पैसे खर्च करके काम चला रहा थे, लेकिन टीचर भी अपने जेब से कब तक राशन खरीदते।

3 महीनों से राशन होने से बंद होने की कगार पर थी स्कीम