पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • \"15 ईंट भट्ठों के खिलाफ दर्ज हो पर्चा\'

\"15 ईंट-भट्ठों के खिलाफ दर्ज हो पर्चा\'

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पंजाबसरकारके इनवायरमेंट क्लीयरेंस के बगैर चल रहे ईंट भट्ठों को 1 नवंबर से पूरी तरह बंद करने के आदेशों के बाद जिला माइनिंग विभाग ने चोरी छुपे चल रहे ईंट भट्ठों पर दबिश दी। 15 ईंट भट्ठे चालू पाए गए। जिला माइनिंग अफसर राम सिंह ने भट्ठों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए संबंधित थानों के अलावा एसपी-डी को लेटर लिखा। इन भट्ठों का लाइसेंस रद करने के लिए फूड एंड सिविल सप्लाई विभाग पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड को पत्र लिख दिया है। राम सिंह ने बताया कि चेकिंग जारी है। वीरवार को राजपुरा ब्लाक की चेकिंग हुई।

जिला माइनिंग अफसर राम सिंह ने बताया कि राजपुरा के पास 3 भट्ठों को पकड़ा गया है। इनके खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए गंडाखेड़ी थाना में लिखित शिकायत दे दी गई है।

पटियाला ब्लाक के 4 भट्ठों को पकड़ा गया है जिनकी शिकायत जुलका थाना में दी गई है जबकि समाना पातड़ां ब्लाक में 8 भट्ठों को चोरी छुपे ईंटों की प्रोडक्शन करते पकड़ा गया है। समाना पातड़ां में चल रहे भट्ठे भोला नामक व्यक्ति के है। भोला के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए एसपी (डी)को भी पत्र लिखा गया है। इसके अलावा ईंट भट्ठा मालिक एसोसिएशन को भी इसकी सूचना दे दी गई है।

एनवायरमेंट क्लीयरेंस जरूरी

सुप्रीमकोर्ट ने फरवरी 2012 में एक याचिका पर फैसला सुनाते हुए देश भर में ईंट भट्ठा चलाने के लिए पहले एनवायरमेंट क्लीयरेंस लेने के आदेश दिए थे। एनवायरमेंट क्लीयरेंस लेने की प्रक्रिया बेहद जटिल थी, इसलिए पंजाब सरकार ने इस कानून में कुछ संशोधन करके इस प्रक्रिया को सरल बना दिया था। पिछले साल सरल प्रक्रिया के तहत भट्ठा मालिकों ने एनवायरमेंट क्लीयरेंस लेकर भट्ठे चला भी लिए थे, लेकिन नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी)ने इस सरल प्रक्रिया के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर कर दी। इस याचिका पर कोर्ट ने सरल प्रक्रिया वाली कैटेगरी (बी 2) पर स्टे लगा दी। अब बिना इनवायरमेंट क्लीयरेंस के किसी भी भट्ठे को चलने के आदेश जारी किए गए है।