पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चांदी के ताजिये की जियारत

चांदी के ताजिये की जियारत

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सूफीसंत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के लंगर खाना स्थित इमाम बारगाह में गुरुवार को चांदी के ताजिये की जियारत कराई गई। अकीदतमंदों ने सलाम पढ़ा और फूल पेश किए। मगरिब की नमाज के बाद लंगर खाना स्थित इमाम बारगाह में चांदी का ताजिया रखा गया। खिदमतगार हाजी मोहम्मद शब्बीर खान समेत विभिन्न गणमान्य लोग उपस्थित थे। खलीफा मुख्तार बख्श और साथियों ने सलाम पेश किया।

तीजेकी फातिहा

इधरअंदरकोट स्थित हताई पर दी सोसायटी पंचायत अंदर कोटियान की ओर से तीजे की फातिहा दिलाई गई। बाद में शरबत तकसीम किया गया। रात को मुमताज एंड पार्टी ने मर्सियाख्वानी की। पंचायत सदर मंसूर खान, कन्वीनर एसएम अकबर, पूर्व पार्षद मुख्तार अहमद नवाब, हाजी चांद खां और सईद खान समेत अकीदतमंद शरीक थे।

तीजेकी मजलिस हुई, कव्वालियां आज से

ख्वाजासाहब की दरगाह के छतरी गेट पर गुरुवार रात हुई तीजे की मजलिस के साथ ही मोहर्रम की रस्मों का समापन हो गया। अब शुक्रवार सुबह से दरगाह में कव्वालियों की शुरुआत हो जाएगी। अंजुमन सैयदजादगान की ओर से छतरी गेट स्थित इमाम बारगाह में तीजे की मजलिस का आयोजन किया गया। बुजुर्ग शायर सैयद मन्नान राही चिश्ती ने बयान शहादत किया। इस मौके पर मोहर्रम कन्वीनर सैयद रिजवानुद्दीन चिश्ती समेत विभिन्न गणमान्य लोग शरीक थे। सैयद रिजवानुद्दीन चिश्ती ने बताया कि अब शुक्रवार सुबह से दरगाह में कव्वालियां वापस शुरू हो जाएंगी।

कुरानख्वानी

इधरअंजुमन शेखजादगान ने तीजे के मौके पर कुरान ख्वानी का आयोजन किया। मोहर्रम कन्वीनर एस. नसीम अहमद चिश्ती की अगुवाई में तबर्रुक पर नियाज दिलाई गई और तबर्रुक तकसीम किया गया।

बज्मेसलाम आज

दरगाहके लंगर खाना स्थित कदीमी इमाम बारगाह में शुक्रवार रात को बज्मे सलाम का आयोजन होगा। इस मौके पर स्थानीय बाहर से आने वाले शायर शोहदा करबला की शान में कलाम पेश करेंगे।