• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • शहर के सभी आयुष औषधालय का समय एक ही पारी में, नर्सेज का पदनाम परिवर्तन

शहर के सभी आयुष औषधालय का समय एक ही पारी में, नर्सेज का पदनाम परिवर्तन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान आयुर्वेद नर्सेज संयुक्त संघर्ष समिति का 19 जुलाई को आयुर्वेद निदेशालय पर प्रस्तावित धरना स्थगित

सिटीरिपोर्टर | अजमेर

राजस्थानआयुर्वेद नर्सेज संयुक्त संघर्ष समिति ने विभाग में कार्यरत आयुर्वेद नर्सेज की विगत लंबे समय से लंबित चल रही मांगों के निराकरण के लिए आयुर्वेद महकमे की निदेशक स्नेहलता पंवार को ज्ञापन सौंपकर नर्सेज हित में इनका निराकरण करने का आग्रह करते हुए राज्य सरकार को इन मांगों के प्रस्ताव अविलंब भिजवाने की मांग की।

निदेशक के द्वारा सरकार को मांगपत्र भिजवाकर मांगों को जल्द निस्तारण करवाने का आश्वासन देने पर समिति ने 19 जुलाई को आयुर्वेद निदेशालय पर प्रस्तावित धरना स्थगित कर दिया। संघर्ष समिति की संयोजक प्रदेश महिला अध्यक्ष उमारानी शेखावत ने बताया कि आयुर्वेद नर्सेज की लंबित मांगों में नर्स कंपाउंडर का कैडर रिव्यु करते हुए नर्स ग्रेड प्रथम द्वितीय करने और वर्तमान में की जा रही पदोन्नति से शेष बचे नर्स-कंपाउंडर की डीपीसी जल्द करवाने की मांग की। ज्ञापन में ग्रामीण कैडर समाप्त करने के आदेश जारी करने, शहरी क्षेत्र के सभी आयुष औषधालयों का समय एक ही पारी में करने और कार्यरत नर्सेज को क्षार सूत्र, पंचकर्म, योग एवं जरावस्था के डिप्लोमा कोर्स करवाने का आग्रह किया।

ड्रग एवं कास्मेटिक नर्सेज एक्ट में संशोधन कर डिप्लोमाधारी नर्सेज को ही आयुर्वेद औषध स्टोर के लाइसेंस देने, राज्य स्तर पर धन्वंतरी पुरस्कार से सम्मानित नर्सेज को एक अतिरिक्त वेतन वृद्धि का लाभ देने की मांग की गई है। समिति की ओर से मांग की गई है कि सभी कार्मिकों के परिचय पत्र बनवाने के लिए जिला आयुर्वेद अधिकारियों को निर्देश देने और कंटिंजेंसी मद में राशि का उपयोग चिकित्सक एवं कंपाउंडर के संयुक्त हस्ताक्षर से किया जाएं। ज्ञापन देने में संयोजक भैराराम चौधरी, गिरिराज शर्मा ब्रजमोहन शर्मा भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...