पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • मानसून में मच्छरों से बीमारियों का खतरा, बढ़ रहे मरीज

मानसून में मच्छरों से बीमारियों का खतरा, बढ़ रहे मरीज

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बारिशके मौसम में मच्छर जनित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। घरों के कूलर, खुले बर्तन में रखा पानी एवं सबसे अधिक खतरा उन क्षेत्रों में रहता है, जहां पर खाली प्लॉट की भरमार है। वहां पर बरसात का पानी जमा होने लगा है। इस पानी में मच्छर पनपने लगते हैं। समय रहते यदि हम नहीं चेते तो मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, उल्टी-दस्त के शिकार होने लगेंगे।

संभाग के सबसे बड़े जवाहर लाल नेहरू अस्पताल के आउट डोर में मरीजों की लंबी कतारें देखी जा सकती हैं। बुखार के मरीज सबसे अधिक रहे हैं। अजमेर सहित आसपास के क्षेत्र के लोग उपचार के लिए यहां पर रहे हैं। सुबह से ही आउटडोर में मरीजों की कतारें लगनी शुरू हो जाती है, जो दोपहर 12 बजे तक लगी रहती है। मेडिसिन विभाग के प्रो. डॉ. अनिल सामरिया ने बताया कि बरसात के मौसम में हमें विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। बरसात की वजह से तापमान में गिरावट आई है। ऐसे में कूलर का उपयोग जरूरत होने पर ही करें। साथ ही इस बात का भी विशेष ध्यान रखें की कूलर के पानी को नियमित रूप से खाली कर नया पानी भरा जाए। एसी की भी नियमित सफाई की जाए। घरों एवं छत पर रखे टूटे फूटे बरतनों में पानी जमा नहीं होने दें।

बारिश के मौसम में बीमारियों का खतरा होने के साथ जेएलएन अस्पताल में भी पहुंचने वाले मरीजों की भीड़ बढ़ी।

संकट में सेहत

खबरें और भी हैं...