पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • पदयात्रियों ने किया ढाई लाख गायत्री मंत्रों का जप

पदयात्रियों ने किया ढाई लाख गायत्री मंत्रों का जप

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुष्करके गायत्री शक्ति पीठ से बुधवार को आरंभ हुई पुष्करण्य क्षेत्र की 24 कोसीय पद यात्रा 84 कोसीय वाहन रथ यात्रा शुक्रवार को तीसरे दिन कड़ैल पहुंची।

यात्रा प्रभारी घनश्याम पालीवाल ने बताया कि सभी पद यात्रियों वाहन रथ यात्रियों ने शुक्रवार की रात नागौर जिलांतर्गत ग्राम थांवला स्थित थानेश्वर महादेव मंदिर में रात्रि विश्राम किया। शुक्रवार को तीसरे दिन की यात्रा आरंभ करने से पहले सभी पद यात्रियों तथा ग्रामीणों ने थांवला में ढाई लाख गायत्री मंत्रों का सामूहिक जप-अनुष्ठान एवं यज्ञ किया। थांवला से यात्रा रवाना होकर भैरव मंदिर भर्तृहरी की तपोस्थली पहुंची। बालाजी मंदिर में दोपहर कालीन साधना की गई। यहां से यात्रा कल्याणपुरा, सनेड़िया, पीह, रघुनाथपुरा, बाड़ी घाटी से दोबारा अजमेर जिले में प्रवेश कर तिलोरा होते हुए देर शाम को कड़ैल पहुंची। ग्राम वासियों के साथ गांव में प्रदक्षिणा की तथा शेषनाग मंदिर में जप साधना की गई। शरणानंद जी की तपस्थली में रात्रि विश्राम किया। यात्रा शनिवार को कड़ैल से बूढ़ा पुष्कर के लिए प्रस्थान करेगी। सभी गांवों में ग्रामीण गाजे-बाजे पुष्प वर्षा के साथ यात्रा का स्वागत कर रहे हैं।

पुष्कर. पुष्करण्य की परिक्रमा करते गायत्री परिवार के पदयात्री।

खबरें और भी हैं...