अतिक्रमण हटाया तो कहीं भीड़ ने जलाए टायर तो कहीं खुद ही तोड़े अपने कब्जे

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. शहर में प्रस्तावित स्मार्ट रोड के मद्देनजर नगर निगम प्रशासन ने सोमवार को पुष्कर रोड से प्रस्तावित रोड की 60 फीट चौड़ाई की जद में आ रहे अतिक्रमण हटाए गए। इनमें नागफणी तिराहे पर स्थित करीब 9 दुकानें शामिल हैं। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई का कुछ लोगों ने विरोध करते हुए टायर फूंके तो कुछ लोगों ने कार्रवाई से पहले स्वयं ही पक्के निर्माणों को हटाना शुरू कर दिया।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत अजमेर में प्रस्तावित तीन स्मार्ट रोड में फॉयसागर पुलिस चौकी से ऋषि घाटी तक की सड़क भी शामिल है, जिसमें आगे नौसर घाटी तक की सड़क है। अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की बोर्ड बैठक में फैसले के बाद निगम प्रशासन को इस रोड पर प्रस्तावित कामों के मद्देनजर फॉयसागर पुलिस चौकी से ऋषि घाटी (लवकुश उद्यान) तक सड़क के मौजूदा स्वरूप को चौड़ा किया जाना है। निगम प्रशासन ने प्रस्तावित रोड की चौड़ाई को देखते हुए जद में आने वाले भवनों व निर्माण को सूचीबद्ध किया था।
 
सूची तैयार करने के बाद सड़क के दोनों किनारों पर जीरो प्वाइंट भी लगा कर संबंधित भवन मालिकों को पक्का निर्माण हटा लेने के संबंध में नोटिस जारी किए थे। नोटिस मिलने के बाद क्षेत्र के लोग हरकत में आए, निगम प्रशासन ने समझाइश की तो जद में आने वाले कुछ भवनों के मालिकों ने अपना निर्माण स्वयं के स्तर पर हटा लेने का आश्वासन दिया।
 
अभी 40 फीट है सड़क की चौड़ाई, अतिक्रमण हटाने के बाद 60 फीट चौड़ी हो जाएगी
 
लवकुश गार्डन से नागफणी तिराहे और पुलिस चौकी तक निगम ने की कार्रवाई
निगम की आयुक्त ज्योति ककवानी सोमवार को कलेक्टर के निर्देश मिलने पर दोपहर बाद निगम के जत्थे के साथ इस सड़क पर पहुंच गईं। नागफणी तिराहे पर निगम की दो जेसीबी ने वहां बनी 9 दुकानों के बाहरी हिस्से को ध्वस्त कर दिया। उसी समय कुछ लोग अपने अतिक्रमण हटाने में भी जुटे हुए थे।
 
निगम के दल ने भी क्षेत्र के लोगों को जद में आ रहे निर्माण को हटाने के लिए समझाइश की।  निगम ने लवकुश उद्यान से नागफणी तिराहे तथा नागफणी तिराहे से पुलिस चौकी तक कार्रवाई की है। सभी को जीरो प्वाइंट तक निर्माण हटा लेने को कह दिया गया है। निगम 39 लोगों को नोटिस जारी किए हुए है। अतिक्रमण हटाने गए दल में उपायुक्त गजेंद्र सिंह रलावता, राजस्व अधिकारी रेखा जेसवानी, पवन मीणा, मनमोहन शर्मा, रूपा राम चौधरी व अन्य कर्मचारी शामिल थे।
 
 
एक-एक कर ढहाई 9 दुकानें, कुछ लोगों ने अवेयरनेस दिखाई 
इनकी 9 दुकानें ध्वस्त
िगम ने सोमवार को जिनके दुकान तोड़े, उनमें कन्हैयालाल बंजारा, राजकुमार लौंगानी, धीरेंद्र कोठारी, सुनील सतनानी, जय गोरानी, लीलाराम, जयकिशन, मुरलीमनोहर और शब्बीर शामिल हैं। इसमें जयकिशन की दो दुकानें हैं।
 
महत्वपूर्ण है यह मार्ग|पर्यटक इसी सड़क से आते जाते हैं
ऋषि घाटी से आनासागर पुलिस चौकी तक का मार्ग इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह सड़क तीर्थ नगरी पुष्कर तक जाती है। विश्व प्रसिद्ध पुष्कर मेले के दौरान एवं साल भर देश-विदेश से पर्यटक एवं तीर्थ यात्रियों का यहां आना जाना लगा रहता है। जाम की वजह से आने वाले पर्यटकों को भारी असुविधा का समाना करना पड़ता है।
 
उधर, निगम तथा प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी
स्मार्ट रोड के मद्देनजर तय की गई चौड़ाई को लेकर कुछ लोग विरोध करते आ रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि अतिक्रमण की जद में प्राचीन मंदिर भी आ रहा है। कुछ अपने निर्माण जद में आने से खफा हैं। कुछ युवकों ने सोमवार को एकत्र होकर टायर भी फूंके। निगम तथा जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की गई।

''अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई पूर्व में तय थी। निगम द्वारा नोटिस जारी किए जा चुके थे। अधिकांश लोग अपने ही स्तर पर निर्माण कार्य तोड़ना शुरू कर चुके हैं। आज 9 निर्माण के विरुद्ध कार्रवाई की गई।'' -गजेंद्रसिंह रलावता, उपायुक्त, निगम
 
आगे की स्लाइड्स में ऐसे ढहाया अतिक्रमण...
 
 
खबरें और भी हैं...