पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यहां महिलाओं के लिए लगी सैनेट्री मशीन, 10 रुपए में मिल रहा नैपकिन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. राजस्थान सरकार ने एक अनोखी पहल की है। अजमेर जिले में लड़कियों एवं महिलाओं को अब उन दिनों में सैनिटरी नैपकिन खरीदने के लिए झिझक का सामना नहीं करना पड़ेगा। यहां के राजकीय जनाना अस्पताल में सैनिटरी नैपकिन वेंडिग मशीन लगाई गई है। एटीएम जैसी मशीन...
- अजमेर में 70 जगहों पर ये मशीन लगाई जाएगी। ये एक तरह से एटीएम जैसी मशीन है। इसमें कोई भी लड़की या महिला 10 रुपए डालकर नैपकिन ले सकती है।
- इसके लिए अब उन्हें मेडिकल या जनरल स्टोर पर जाने की जरूरत नहीं होगी।
- बुधवार को कलेक्टर गौरव गोयल की मौजूदगी में एक लड़की ने 10 रुपए का सिक्का डालकर मशीन से नैपकिन लेकर सुविधा का इनॉगरेशन।
- गौरव गोयल का कहना है कि लड़कियों में सैनिटेशन और हेल्थ अवेयरनेस बढ़ाने और उनकी झिझक मिटाने के लिए ये कोशिश की जा रही है। स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड समेत लड़कियों और महिलाओं की पहुंच वाले क्षेत्रों में ये नैपकिन वेंडिंग मशीनें लगाई जाएंगी।'
- ये मशीनें नैपकिन पैड की 24 घंटे मुहैया कराएंगी।
- सिर्फ एक बटन दबाकर नैपकिन पैकेट हासिल िकया जा सकेगा। हैप्पी डेज नाम से तैयार इन सैनिटरी नैपकिन को भारत सरकार के वेंचर एचएलएल लाइफ केयर लिमिटेड ने तैयार किया है।
- एक पैकेट में तीन नैपकिन होंगे। ये बाजार में मिल रहे महंगे नैपकिन के मुकाबले में सस्ते हैं। इनके साइड इफेक्ट भी नहीं हैं। वेंडिंग मशीनों के पास एक इंसीनरेटर भी लगाया जा रहा है।
- इसमें इस्तेमाल किए गए नैपकिन को डाला जा सकेगा, ताकि इन्फेक्शन फैलने की आशंका को खत्म किया जा सकेगा।
भास्कर ने यह मुद्दा उठाया था
- बता दें कि दैनिक भास्कर ने इस मुद्दे को उठाया था। इसके बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इसे अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बनाया है।
- लवेरा गांव की राजकुमारी कहती हैं 'यह एक अच्छी शुरुआत है। इससे हमें कई परेशानियों से निजात मिल जाएगी।'
- मदार क्षेत्र की सरिता शर्मा ने तो स्लोगन बना दिया, वे कहती हैं 'सस्ता, सुगम, सौम्य। प्यारा नैपकिन हमारा। बड़ी उम्र की महिलाओं ने जिस झिझक को जिया है, नए जमाने की लड़कियों एवं महिलाओं को उस परेशानी से अब मुक्ति मिल जाएगी।'
खबरें और भी हैं...