पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाउसिंग बोर्ड के मकानों का होगा नियमितीकरण

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर.आवासन मंडल से आवंटित मकानों को जिन खरीदारों ने मूल आवंटी से बगैर रजिस्ट्री अथवा अमुद्रांकित दस्तावेजों से खरीद कर बोर्ड में नियमित नहीं कराया था वे अब ऐसे आवासों का स्वयं के नाम नियमन करा सकेंगे।
नियमितीकरण के ऐसे मामलों में बोर्ड बाजार दर की बजाए मूल आवंटन राशि पर पंजीयन करेगा। आवेदन करने की अंतिम तारीख 4 मार्च है।
यह होगी प्रक्रिया
आदेश के अनुसार लीज होल्डर को लीज के साथ बोर्ड द्वारा जारी प्रमाण पत्र पंजीयन अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। जिसमें मूल आवंटन राशि संपत्ति के संबंध में निष्पादित मध्यवर्ती अपंजीकृत दस्तावेजों का उल्लेख कराना होगा।
पंजीयन अधिकारी लीजडीड के पंजीयन से पूर्व यह तय करेगा कि प्रत्येक मध्यवर्ती अपंजीकृत दस्तावेज पर घटी दर से स्टांप ड्यूटी का भुगतान कर दिया गया है या नहीं। ऐसे दस्तावेज निष्पादित लीजडीड पंजीयन हेतु 31 मार्च 2013 तक पंजीयन विभाग में प्रस्तुत की जा सकती हैं।
बोर्ड प्रमाण पत्र जारी करने से पूर्व मूल आवंटी पर बकाया राशि आवेदक से वसूली जाएगी। इसके बाद ही प्रमाण पत्र जारी होगा। बोर्ड द्वारा जारी प्रमाण-पत्र के आधार पर पंजीयन विभाग दस्तावेजों को पंजीकृत करेगा।
बिकने के बावजूद मूल आवंटी का ही नाम :
दस्तावेज पंजीयन करने के बाद बोर्ड अपने रिकार्ड में आवेदक के नाम दर्ज करेगा। मालूम हो कि बोर्ड में करीब 100 प्रकरण ऐसे हैं, जिसमें मूल आवंटियों ने अपने आवास बेच दिए थे।
कुछ प्रकरण ऐसे भी हैं जिसमें एक ही आवास तीन-चार मर्तबा बिक गया। लेकिन बोर्ड के दस्तावेजों में मूल आवंटी का नाम ही चल रहा है। पूर्व में बोर्ड ने ऐसे प्रकरणों के नियमितिकरण पर रोक लगा रखी थी। बोर्ड ने ऐसे आवंटियों को राहत देते हुए मूल आवंटित दर से पंजीयन कराने का निर्णय लिया है। इससे आवंटियों को दस्तावेजों को पंजीयन कराने में कम राशि देनी होगी।
पूर्व में बाजार दर के हिसाब से पंजीयन किया जाता था जिसमें काफी राशि खर्च होती थी। जिन्होंने बिना रजिस्ट्री और अमुद्रांकित दस्तावेजों से आवासंन मंडल के मूल आंवटियों से मकान खरीद लिए। ऐसे खरीददार लंबे समय से नियतितीकरण करना चाह रहे थे।
यह होगी टाइम-लाइन
आवेदन 4 मार्च तक
समाचार पत्रों में प्रकाशन6 मार्च
आपत्ति18 मार्च तक
डिमांड नोट20 मार्च तक
नियमन आदेश22 मार्च तक
पंजीयन हेतु विलेख25 मार्च तक
योजना का लाभ उठाएं
'जिन लोगों ने हाउसिंग बोर्ड के मकान का स्वयं के नाम नियमितिकरण नहीं कराया है, वे इस अवधि में लाभ उठा सकते हैं।'
पीएम डिंगरवाल
आवासीय अभियंता