पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Pushkar To Link Security Fence 'Kbad House'

कड़ी सुरक्षा घेरे में पुष्कर का ‘खबाद हाउस’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुष्कर/अजमेर.हैदराबाद बम धमाकों के बाद अजमेर व पुष्कर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई। मुंबई बम ब्लास्ट के मास्टर माइंड कोलमैन हेडली की हिट लिस्ट में शुमार पुष्कर स्थित यहूदियों के धर्मस्थल खबाद हाउस को कड़े सुरक्षा घेरे में लिया गया है। खबाद की सुरक्षा में तैनात सशस्त्र जवानों की संख्या दो गुनी कर तैनात जवानों को बुलेट प्रूफ जाकेट उपलब्ध कराई गई है।
एसपी गौरव श्रीवास्तव में पुलिस अधिकारियों के साथ खबाद व आसपास के क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेकर सुरक्षाकर्मियों को 24 घंटे अलर्ट रहने की हिदायत दी है। जिला पुलिस अधीक्षक गौरव श्रीवास्तव पुलिस अधिकारियों के साथ मंगलवार शाम फिर पुष्कर पहुंचे। उन्होंने करीब तीन घंटे तक खबाद हाउस व आसपास के क्षेत्रों का जायजा लेकर सुरक्षा व्यवस्था जांची। इसके बाद अधीनस्थ अधिकारियों की बैठक लेकर सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की।
एसपी ने पुष्कर से लौटते ही पुलिस लाइन से चार अतिरिक्त जवानों की खबाद हाउस की सुरक्षा के लिए ड्यूटी लगा दी। इससे पूर्व खबाद हाउस की सुरक्षा के लिए आरएसी के दीवान समेत 5 पुलिसकर्मी तैनात थे। इसके अलावा पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था में तैनात सभी जवानों को बुलेट प्रूफ जैकेट, राइफल एवं दूरबीन भी मुहैया कराई है।
पुलिस अधिकारियों ने खबाद हाउस की सुरक्षा में तैनात जाब्ते को 24 घंटे मुस्तैद रहने के निर्देश के साथ-साथ ड्यूटी में जरा भी कोताही नहीं बरतने की हिदायत दी है। सूत्रों के अनुसार अभी सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ाई जाएगी। खबाद हाउस की चार दीवारी को ऊंचा किया जाएगा तथा सीसी कैमरों की संख्या बढ़ाने सहित कई कमियां दूर कर सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ की जाएगी।
इधर खबाद हाउस का विरोध फिर शुरू!
लंबे समय बाद एसपी का खबाद हाउस का दौरा और 24 घंटे के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद करना। कहीं खबाद हाउस पर खतरे के संकेत तो नहीं है। हालांकि इस संबंध में पुलिस के कोई भी आला अधिकारी स्पष्ट रूप से कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। नगर वासियों में आतंकी हमले की आशंका के चलते तीर्थ नगरी में खबाद हाउस को बंद करने अथवा इसे आबादी क्षेत्र से दूर स्थानांतरित करने की मांग जोर पकड़ने लगी है।
श्री तीर्थ गुरु पुष्कर पुरोहित संघ ट्रस्ट के संयोजक श्रवण पाराशर ने जिला व पुलिस प्रशासन से खबाद हाउस को तत्काल प्रभाव से बंद करने की मांग की है। उनके अनुसार इससे तीर्थ नगरी में आतंक का साया छाया हुआ है। खबाद हाउस यहां से हटने पर नगर वासियों के साथ-साथ दूर-दराज से आने वाले श्रद्धालु भी खुद को सुरक्षित महसूस करेंगे।
'जिले के सभी प्रमुख धार्मिक स्थलों पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पुष्कर में खबाद हाउस की सुरक्षा के लिए विशेष तौर पर सशस्त्र जवानों को तैनात किया गया है।’
-गौरव श्रीवास्तव, एसपी