पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अजमेर जिले की धरती भी कांपी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर. रविवार की सुबह अजमेर जिले की धरती भी भूकंप के हलके झटकों से कांप उठी। लोग घबराकर घरों से बाहर निकल आए। कई घरों में बर्तन भी गिर गए। हालांकि भूकंप वेधशाला में अजमेर जिले में कंपन अंकित नहीं हुआ है।
कंपन सुबह करीब साढ़े छह बजे महसूस किए गए। अजमेर शहर के अनेक इलाकों में लोगों को झटके लगे। अजमेर जिले के केकड़ी, सावर, धूंधरी, कादेड़ा, रामसर, भिनाय, सांपला, बघेरा, जोतायां, सरवाड़, अरांई में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।
ग्रामीण अंचलों से प्राप्त समाचारों के मुताबिक लोग घबराकर घरों से बाहर निकल आए। रसोई में रखे बर्तन भी गिर गए। हालांकि कहीं से किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली है। भूकंप टोंक जिले में अंकित हुआ।
विभाग ने नहीं माना भूकंप
टोंक व देवली में आए भूकंप के झटकों का असर रविवार को शहर में भी रहा। विभिन्न क्षेत्रों में कंपन से शहरवासियों में दहशत फैल गई, लेकिन आधिकारिक तौर पर अजमेर में भूकंप की पुष्टि नहीं की गई। रविवार सुबह लगभग 6.27 बजे चंद सेकंडों के लिए जोरदार कंपन हुआ। कायड़ की विभिन्न कॉलोनियों के मकानों में दरारें आ गई।
कुछ ही पल के लिए हुए जोरदार कंपन के चलते दरगाह क्षेत्र में लोग घरों से बाहर निकल आए। शास्त्री नगर, पुलिस लाइन और लोहाखान क्षेत्र में भी लोगों ने तेज झटके महसूस किए। इधर, मौसम विभाग स्थित भूकंप वेधशाला और दिल्ली स्थित भूकंप वेधशाला ने टोंक व देवली में भूकंप आना बताया। अजमेर के किसी भी क्षेत्र में भूकंप की कोई पुष्टि वेधशाला के अधिकारियों ने नहीं की। दिल्ली से बताया गया कि 4.1 तीव्रता का भूकंप टोंक व देवली में रिकॉर्ड किया गया है। पाली, कोटा में भी हल्के झटके बताए गए हैं, लेकिन अजमेर में कोई तीव्रता नहीं बताई गई।
भूकंप से दहशत
पुष्कर. रविवार सुबह महसूस हुए भूकंप के झटके से लोगों में भारी दहशत फैल गई। भयभीत लोग घरों से बाहर निकल आए। रविवार की सुबह करीब 6.25 बजे भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। जिससे घरों में बर्तन व अन्य सामान खनखनाने लगा। कंपन महसूस होते ही लोगों में दहशत फैल गई और वे घरों से बाहर निकल आए।