• Hindi News
  • National
  • अरबन बैंक चेयरमैन, सीईओ समेत 5 गिरफ्तार 5 महीने में किया था 16 करोड़ रुपए का गबन

अरबन बैंक चेयरमैन, सीईओ समेत 5 गिरफ्तार 5 महीने में किया था 16 करोड़ रुपए का गबन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीबीआई ने बैंक सीईओ समेत 4 कर्मचारियों से की पूछताछ

पुलिसकी एसओजी एटीएस टीम ने अलवर अरबन कोऑपरेटिव बैंक लि. में हुए 16 करोड़ रुपए के गबन के आरोप में बुधवार को बैंक चेयरमैन मृदुल जोशी, सीईओ महेश मुदगल, डायरेक्टर अशोक जोशी, पूर्व चेयरमैन ओमप्रकाश सैनी सहित गबन के मास्टर माइंड अभिषेक जोशी को गिरफ्तार कर लिया। इनसे पूछताछ में पिछले 5 माह के दौरान लगभग 16 करोड़ रुपए के गबन का मामला उजागर हुआ है। पूछताछ में पता चला कि बैंक के तत्कालीन चेयरमैन ओमप्रकाश सैनी ने एक करोड़ रुपए की घूस लेकर बैंक को मास्टरमाइंड अभिषेक जोशी के हवाले कर दिया था। एसओजी ने बैंक के महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किए हैं। एटीएस एसओजी के एडीजी उमेश मिश्रा ने बुधवार को इस मामले का खुलासा किया। मिश्रा ने बताया कि 19 नवंबर को अलवर के स्पायरो होटल से अलवर अरबन कोऑपरेटिव बैंक मैनेजर दीपक तांती उसके साथी शशिमोहन को गिरफ्तार किया था। साथ ही किशनगढ़बास थाना पुलिस ने इस गिरोह के सदस्यों से 1 करोड़ 32 लाख 43 हजार रुपए की राशि बरामद की थी। यह राशि गिरोह के सदस्य बैंक से गबन कर कारों में लादकर चोरी छिपे दिल्ली ले जा रहे थे। इस संबंध में कोतवाली थाने में मामला दर्ज हुआ था। मगर, गबन की राशि बड़ी होने के कारण अलवर जिला पुलिस ने इस मामले को एसओजी को सौंप दिया। शेषपेज 14



एसओजीने बैंक के दस्तावेजों की गहनता से जांच पड़ताल शुरू कर मामले का अनुसंधान किया। एसओजी ने जांच में दोषी पाए जाने पर बैंक चेयरमैन मृदुल जोशी, डायरेक्टर अशोक जोशी घोटाले के मास्टर माइंड अभिषेक जोशी निवासी पटेल नगर नई दिल्ली बैंक के पूर्व चेयरमैन ओमप्रकाश सैनी एडवोकेट निवासी अलवर को गिरफ्तार किया है। गबन का मास्टर माइंड अभिषेक जोशी का बैंक चेयरमैन मृदुल जोशी भाई अशोक जोशी पिता है।

एसओजी के पुलिस महानिदेशक एमएन दिनेश ने बताया कि अलवर अरबन कोऑपरेटिव बैंक की स्थापना 1984 में हुई थी। बैंक का संचालन 12 डायरेक्टरों चेयरमैन बोर्ड द्वारा किया जाता था। डायरेक्टरों के लिए बैंक की सदस्यता प्राप्त करना आवश्यक था। साथ ही डायरेक्टरों का चुनाव बैंक के सभी सदस्यों हिस्सा धारकों द्वारा 5 वर्ष के लिए किया जाता था। साथ ही डायरेक्टर का चुनाव लड़ने के लिए कम से कम दो वर्ष पुरानी सदस्यता आवश्यक थी। पटेल नगर दिल्ली निवासी अभिषेक जोशी ने माह मई जून 2016 में बैंक के तत्कालीन चेयरमैन ओमप्रकाश सैनी सीईओ महेश मुदगल से संपर्क कर एक करोड़ रुपए की रिश्वत के बदले उक्त संचालन मंडल में अपने 12 डायरेक्टरों से मिलीभगत कर बिना चुनाव पात्रता की शर्तों का पूरा किए बिना बैंक के दस्तावेजों में कांट-छांट कर कूट रचना कर नियुक्त करवाया लिया। उन्होंने बताया कि मास्टर माइंड अभिषेक जोशी ने अपने भाई मृदुल जोशी को चेयरमैन अन्य परिजनों जानकारों को बैंक के डायरेक्टर्स बनवा कर बैंक का समस्त प्रबंधन अपने अधिकार में ले लिया। उन्होंने बताया कि अभिषेक जोशी मुंबई में भी संघमित्रा नाम के बैंक का संचालन करता है।



आजकिया जाएगा न्यायालय में पेश : अलवरअरबन कोऑपरेटिव बैंक के 16 करोड़ रुपए के घोटाले गबन के आरोप में गिरफ्तार बैंक चेयरमैन मृदुल जोशी, सीईओ महेश मुदगल, डायरेक्टर अशोक जोशी, पूर्व चेयरमैन ओमप्रकाश सैनी सहित गबन का मास्टर माइंड अभिषेक जोशी गुरुवार को न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।

1. मास्टर माइंड अभिषेक जोशी ने सीईओ महेश मुदगल की मिलीभगत से बैंक में 92 फर्जी खाते खोलकर प्रत्येक में से 9 लाख रुपए का लाेन उठाकर 8.28 करोड़ का गबन किया।

2. अभिषेक जोशी ने बैंक मैनेजर दीपक तांती के साथ मिलकर स्टेट बैंक में अलवर अरबन कोऑपरेटिव के खातों से 4.75 करोड़ रुपए निकाले। इस राशि का अरबन कोऑपरेटिव बैंक में कोई रिकॉर्ड नहीं है।

3. अभिषेक जोशी ने बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर अरबन कोऑपरेटिव बैक की 2.11 करोड़ रुपए की राशि विभिन्न खातों में आरटीजीएस की गई।

मास्टरमाइंड ने बैंक कर्मियों को डराया धमकाया

जांचमें यह भी सामने आया है कि मास्टर माइंड अभिषेक जोशी ने कुछ बैंक कर्मियों को डराया धमकाया भी था। बैंक कर्मियों ने जोशी की शिकायत भी की थी। मगर, शिकायत दबकर रह गई।

{ 19नवंबर : कोतवालीपुलिस ने स्पायरो इन होटल से अरबन बैंक प्रबंधक दीपक कुमार तांती उसके साथी शशिमोहन को हिरासत में लिया।

{ किशनगढ़बास पुलिस ने देर रात को अलवर-भिवाड़ी मेगा हाईवे पर 3 कारों में ले जाए जा रहे 1 करोड़ 32 लाख 43 हजार के नए पुराने नोटों से भरे बैग पकड़े।

{25 नवंबर: दीपकतांती ने करोड़ों के गबन का खुलासा किया।

{26 नवंबर :कोर्ट ने शशि मोहन को जेल भेज दिया जबकि दीपक कुमार तांती को 29 नवंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

{29 नवंबर : न्यायालयने दीपक तांती की रिमांड अवधि 1 दिसंबर तक फिर बढ़ाई। शेषपेज 14





30नवंबर: दीपक तांती से पूछताछ के लिए जयपुर से एसओजी टीम अलवर पहुंची। तांती से कोतवाली में कई घंटे पूछताछ की।

1 दिसंबर: दीपक कुमार तांती की रिमांड अवधि कोर्ट ने 2 दिसंबर तक बढ़ाई।

2 दिसंबर: तांती को न्यायालय ने जेल भेज दिया।

14 दिसंबर: जयपुर से एसओजी टीम अरबन बैंक में हुए 15 करोड़ रुपए के गबन की जांच के लिए अलवर पहुंची। टीम ने बैंक कर्मचारियों से पूछताछ की और बैंक का रिकॉर्ड खंगाला।

अलवर. अरबन को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में गिरफ्तार पांचों आरोपी।

खबरें और भी हैं...