पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • अधिकारियों के समझाने पर भी नहीं माने ग्रामीण, बघेरे को पकड़ने की जिद पर अड़े

अधिकारियों के समझाने पर भी नहीं माने ग्रामीण, बघेरे को पकड़ने की जिद पर अड़े

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरिस्काबाघ परियोजना से सटे क्षेत्रों में बघेरों चार महीने में चार लोगो की जान ले ली। प्रतापगढ़ इलाके के सांवतसर गांव में 28 सितंबर 2016 की रात करीब 11 बजे खेत में पानी देने जा रहे 50 साल के रेवड़मल की मौत। 20 अक्टूबर 2016 की शाम प्रतापगढ़ इलाके भड़ाज गांव में बघेरे ने 55 साल की गुल्लीदेवी बलाई की मौत। 5 फरवरी 2017 को किशोरी के काला लांका गांव में खेत की रखवाली के लिए जा रही महिला की बघेरे के हमले में मौत। 6 फरवरी को किशोरी के रायपुरा में बघेरे ने महिला की जान ले ली। इसके अलावा प्रतापगढ़ के ही आमका गांव में 1 नवंबर की सुबह बघेरे ने 25 वर्षीय महिला श्रवण देवी गुर्जर पर हमला कर घायल दिया था। वह खेत में पानी देने जा रही थी।

तीनकिलोमीटर के दायरे में दूसरी घटना

बघेरेके हमले में मौत की दो दिन में यह दूसरी घटना है। किशोरी इलाके में लगातार हो रहे हमलों से लोग भयभीत हैं। दोनों घटनाएं महज तीन किलोमीटर के दायरे में हुई है। सोमवार की घटना रायपुरा के जंगल में हुई है। इससे एक दिन पहले काला लांका गांव के जंगल में बघेरे के हमले में बिरदी देवी की मौत हो गई थी। यह महिला भी खेत पर फसल की रखवाली करने गई थी।

गांव कालालांका में रविवार को बघेरे के हमले से बिरदी देवी की मौत के बाद सोमवार को वनविभाग के अधिकारी मृतका के परिजनों से मिले और उन्हें 2 लाख की सहायता राशि का चेक सौंपा। जानकारी के अनुसार शाम 4 बजे को सरिस्का सीसीएफ आरएस शेखावत, एसीएफ सुरेन्द्र सिंह धाकड़, थानागाजी तहसीलदार बनवारीलाल गुप्ता, आरवो सरिस्का गजनफर अली जैदी, उपकार संस्थान सचिव डूंगरसिंह मीना, थानागाजी पटवार संघ के अध्यक्ष पेमाराम मीना, नेहडा युवा मंच के संयोजक सियाराम मीना, वनपाल धर्मवीर चौधरी, बद्रीप्रसाद गुर्जर, बामनवास सरपंच सूर्यप्रकाश जैमन, पटवारी रतनलाल मीना, मुन्नालाल शर्मा आदि मृतका के घर पहुंचकर परिजनों से मिले। सरिस्का सीसीएफ आरएस शेखावत एसीएफ सुरेन्द्र सिंह धाकड़ , थानागाजी तहसीलदार बनवारीलाल गुप्ता ने मृतका बिरदी देवी के पति प्रभुदयाल मीना को सहायता के रूप में 2 लाख रुपए का चेक सौंपा। सरिस्का सीसीएफ आरएस शेखावत ने ग्रामीणों से कहा कि अनुदान पर पावर फेसिंग करवाई जाएगी गैस कनेक्शन से वंचित पात्र लोगों को गांव में ही शिविर लगाकर गैस कनेक्शन दिए जाएंगे।

बघेरेको पकड़ने के लिए लगाया पिंजरा

सरिस्कासीसीएफ आरएस शेखावत ने बताया कि बघेरे को पकड़ने के लिए ढांग वाली जोहड़ में एक पिंजरा लगा दिया गया है तथा शीघ्र ही दूसरा पिंजरा भी लगवा दिया जाएगा। इस दौरान उन्होंने घटना स्थल का भी निरीक्षण किया।

भास्कर न्यूज | किशोरी

गांवरायपुरा में बघेरे के हमले से महिला की मौत के बाद ग्रामीणों में खासा आक्रोश था। सभी बघेरे को पकड़ने की मांग कर रहे थे। इसके चलते देर रात तक लोग घटना स्थल पर बने रहे। अधिकारियों के समझाने पर भी ग्रामीण हटने और महिला का शव ले जाने के लिए तैयार नहीं हुए। ग्रामीणों ने पूर्व में बघेरे को पकड़ने की कार्रवाई पर भी सवाल किए। उनका कहना था कि सरिस्का स्टाफ जिस बघेरे को पकड़ता वह दूसरा होता है। जबकि हमला करने वाले बघेरे दूसरे हैं। ग्रामीणों ने शाम 5 बजे घटना होने के बाद से ही अाक्रोश था।

सूचना के बाद थानागाजी एसडीएम कैलाश चन्द शर्मा, तहसीलदार बनवारीलाल गुप्ता, थानागाजी पंचायत समिति सदस्य राजेंद्र शर्मा, थानागाजी से पुलिस जाप्ता पहुंचा। देर रात पहुंचे डीएफओ बालाजी करी डीएसपी सांवरमल नागौरा ग्रामीणों को समझाने में जुटे थे। घटना की सूचना वन विभाग को दे दी गई लेकिन रात करीब साढ़े नौ बजे बाद वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। अधिकारी भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। वन विभाग के कर्मचारियों को अंदेशा था कि कहीं गुस्साए ग्रामीण उनसे मारपीट नहीं कर दें। पोस्टमार्टम के लिए आई टीम भी देर रात मौके पर ही थी।

^डीएफओमौके पर हैं। ग्रामीणों से बातचीत चल रही है। ग्रामीणों से सावधानी बरतने के लिए समझाइश की जा रही है। बघेरे की आने की आशंका वाले इलाके में पिंजरा रखवा दिया गया है। पिंजरे में शिकार भी रखा है। मृतका बिरदी देवी के परिजनों को आर्थिक मदद का चैक दे दिया है। गैस एजेंसी वाले को भी गांव में गैस कनेक्शन देने के लिए कहा है। -आरएस शेखावत, मुख्य वन संरक्षक

किशोरी. सोमवार की देर शाम गांव रायपुरा में बघेरे के हमले से महिला की मौत के बाद घटना स्थल बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए।

खबरें और भी हैं...