मोदी ने शुरू किया था ट्रेंड

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आस्था से सत्ता की आस; एक साल में राहुल 15, मोदी 12 मंदिरों की शरण में

राहुल का मंदिर दर्शन

राहुल ने सितंबर 2016 में यूपी में 4 हजार किमी लंबी किसान यात्रा की शुरुआत देवरिया में दुग्धेश्वरनाथ मंदिर में पूजा से की थी। इसके बाद वह काशी विश्वनाथ, हनुमान गढ़ी, मथुरा, विंध्याचल मंदिर, चित्रकूट में कामदगिरी मंदिर, उरई में माता संकटा, बरेली में घोपेश्वरनाथ और लखनऊ में हनुमान सेतु मंदिर गए थे। पिछले हफ्ते राहुल गुजरात में 3 दिन में 5 मंदिरों में गए थे। 5 अक्टूबर को राहुल अमेठी पहुंचे थे, यहां एक पंडाल में दुर्गाजी के दर्शन किए।

एंटनीरिपोर्ट से सीख ली

2014लोकसभा चुनाव में हार की वजह जानने के लिए कांग्रेस ने एके एंटनी के नेतृत्व में एक समिति बनाई थी। एंटनी ने रिपोर्ट में हार के पीछे मुस्लिम तुष्टिकरण नीति को बड़ी वजह बताया। इसके बाद पहली बार 2015 में राहुल केदारनाथ पहुंचे थे। तब राहुल ने कहा था कि मैं मंदिर के भीतर गया तो मुझे आग जैसी शक्ति मिली। माना जा रहा है कि राहुल, एंटनी से सीख लेकर ही अब मंदिर दर्शन से चुनावी अभियान शुरू करते हैं।

यहां द्वारकाधीश, सोमनाथ मंदिर पॉलिटिक्स के केंद्र

अब अखिलेश यादव भी राहुल के रास्ते पर

खबरें और भी हैं...