पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • टाइगर रिजर्व सरिस्का बनेगा पर्यटन केंद्र

टाइगर रिजर्व सरिस्का बनेगा पर्यटन केंद्र

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता| अलवर/जयपुर

जयपुर-दिल्लीके बीच अलवर स्थित सरिस्का टाइगर रिजर्व को सबसे बड़े पर्यटन केंद्र के तौर पर विकसित करने की तैयारी है। इसके लिए वन विभाग की ओर से 99 करोड़ रुपए का प्रस्ताव तैयार हो रहा है। विभाग की ओर से प्रस्ताव तैयार होने के बाद इसे मंजूरी के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को भेजा जाएगा। मंत्रालय से स्वीकृति मिलने के बाद धरातल पर कार्य शुरू किया जाएगा। इस प्रकरण में छह से आठ महीने का समय लगने की संभावना है। दिल्ली से आने वाले ज्यादातर पर्यटक रणथंभौर टाइगर रिजर्व आना पसंद करते हैं। इसका कारण यह है कि पर्यटकों के लिए सुविधाएं आसानी से उपलब्ध हो जाती है, जबकि सरिस्का दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा से पास होने के बावजूद यहां बेहद कम संख्या में ही पर्यटक पाते हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि अलवर बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन से उतरने के बाद सरिस्का जाने के लिए बेहतर सुविधाएं नहीं है। इसके कारण पर्यटक सरिस्का की ओर रुख नहीं कर पाते। इसी को ध्यान में रखकर सरिस्का में सुविधाएं विकसित करने के लिए 99 करोड़ रुपए का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है, जिससे सरिस्का को रणथंभौर के मुकाबले तैयार किया जा सके। इसके तहत एक जोड़े बाघ को भी सरिस्का में भी छोड़ा जाएगा, जिससे यहां आने वाले पर्यटकों को आसानी से वन्यजीव दिख सके। ध्यान रहे कि यहां पर लगभग बाघों की संख्या 16 के आसपास है, जिसे बढ़ाने पर फोकस किया जा रहा है।

जंगल लोकेशन के लिहाज से सरिस्का बेहतर

^लोकेशन,जंगल के लिहाज से रणथंभौर से अच्छा सरिस्का है। दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पर्यटकों के लिए दूरी के लिहाज से भी कम है। इसके बावजूद यहां पर्यटक नहीं पा रहे। इसी को ध्यान में रखकर सरिस्का सबसे बड़ा पर्यटन केंद्र विकसित करने की दिशा में कदम बढ़ाया जा रहा है। -गजेंद्रसिंह खींवसर, वन एवं पर्यावरण मंत्री

पर्यटन

खबरें और भी हैं...