पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सावन मास की शिवरात्रि पर शिवालयों में हुए अनुष्ठान

सावन मास की शिवरात्रि पर शिवालयों में हुए अनुष्ठान

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलेमें शुक्रवार को सावन मास की शिवरात्रि श्रद्धा से मनाई गई। राज्य सरकार की ओर से प्रदेश में खुशहाली, अमन-चैन तरक्की के लिए त्रिपोलिया शिव मंदिर में रुद्राभिषेक का आयोजन किया गया। श्रद्धालुओं ने शिवालयों में पूजा अर्चना की। बैंड-बाजे के साथ कावड़ियों ने शिवालयों में कावड़ चढ़ाई। इस अवसर पर शिवालयों को सजाया और रोशनी की गई। त्रिपोलिया शिव मंदिर में पं गोपाल शास्त्री के आचार्यत्व में सुबह 11 बजे रुद्राभिषेक प्रारंभ हुआ। 11 पंडितों ने मंत्रोच्चारण के साथ सवा पांच किलो दूध और 1500 लीटर पानी से भगवान शिव का रुद्राभिषेक कराया। मंत्रोच्चारण के दौरान शिवलिंग पर जल की सहस्त्र धारा चढ़ाई गई। करीब 66 मंत्रों का संपुट सहित 1000 बार उच्चारण किया गया। कार्यक्रम समापन पर आरती के बाद प्रसाद वितरण हुआ। इससे पहले कार्यक्रम की शुरुआत सुबह पूजन के साथ हुई। पूजन में त्रिपोलिया शिव मंदिर के महंत जितेंद्र खेड़ापति, जनप्रतिनिधि के रूप में नगर परिषद उपसभापति शशि तिवाड़ी, पूर्व उपसभापति राजदुलारी शर्मा, राजस्थान संस्कृत शिक्षा अकादमी के जिला प्रभारी योगेंद्र शर्मा, एडीएम सिटी महेंद्र मीणा, देवस्थान विभाग की सहायक आयुक्त ऋचा गर्ग निरीक्षक ममता मीणा शामिल हुई। शिवालयों में पूजा अर्चना के लिए दोपहर तक श्रद्धालुओं की भीड़ रही। श्रद्धालुओं ने विधिवत पूजा-अर्चना की। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए गंगाजल, दूध, आक, धतूरा, भांग, फूल, तिल, फल मिठाई चढ़ाई गई।

हवनभंडारों का हुआ आयोजन

शहरमें विभिन्न संगठनों की ओर से कावड़ियों की सेवा के लिए लगाए गए कावड़ शिविर शुक्रवार को संपन्न हो गए। इस अवसर पर हवन और भंडाराें का आयोजन हुआ। अपनाघर शालीमार में 13 जुलाई जबकि अन्य कावड़ शिविर 17 जुलाई से प्रारंभ हुए थे। शहर में 12 जगह कावड़ शिविर लगाए गए।

त्रिपोलिया मंदिर में कावड़ चढ़ाने पहुंचे कावड़िए।

खबरें और भी हैं...