--Advertisement--

एक बूंद पानी बनाने की कीमत दस हजार रुपए

भीलवाड़ा | दुनियामें कोई ऐसी ताकत नहीं है जो ऑक्सीजन दे सके। मिट्टी, पानी हवा किसी प्रयोगशाला में तैयार नहीं हो...

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2016, 03:30 AM IST
भीलवाड़ा | दुनियामें कोई ऐसी ताकत नहीं है जो ऑक्सीजन दे सके। मिट्टी, पानी हवा किसी प्रयोगशाला में तैयार नहीं हो सकती। ‘नासा’ को एक बूंद पानी बनाने पर दस हजार रुपए खर्च करने पड़े हैं। यह कहना है ‘ग्रीन मैन ऑफ इंडिया’ के नाम पहचाने जाने वाले डॉ लक्ष्मीकांत दाधीच का। वे ग्लोबल वार्मिंग विषयक सेमिनार में बोल रहे थे। जायन्ट्स ग्रुप ऑफ टेक्सटाइल सिटी लायनेस क्लब टेक्सटाइल सिटी की ओर से राजेंद्र मार्ग स्कूल में यह सेमिनार हुई। दाधीच ने कहा कि किसी पेड़ की एक पत्ती को भी तोड़ते हैं तो हम ऑक्सीजन की फैक्ट्री नष्ट करते हैं। पृथ्वी पत्ती कभी हड़ताल नहीं करते हैं वे लगातार ऑक्सीजन का निर्माण करते रहते है। जायन्ट्स ग्रुप के प्रदेशाध्यक्ष सुरेंद्र जैन ने कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब माताएं अपने बच्चों को टिफिन, पानी की बोतल के साथ ऑक्सीजन के सिलेंडर भी देंगी। क्लब की अध्यक्ष अर्चना सोनी, प्राचार्य डॉ महावीर शर्मा, संचालक निशा सोनी स्कूल विद्यार्थियों ने शिरकत की।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..